राज्य

एम.पी.लाइव-11 जुलाई को सभी जिलों में होगे बिजली बिल माफी योजना के कार्यक्रम

Posted by khalid on





11 जुलाई को सभी जिलों में होगे बिजली बिल माफी योजना के कार्यक्रम .. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सभी संभागायुक्तों और जिला कलेक्टरों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर तैयारियों के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह , जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा दतिया में शहीद जवान रंजीत सिंह तोमर की अंत्येष्टि में हुए शामिल

और राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने भोपाल के अर्जुन नगर में असंगठित श्रमिकों को पंजीयन प्रमाण पत्र किए वितरित ।

1 11 जुलाई को सभी जिलों में बिजली बिल माफी योजना के कार्यक्रम शुरु किए जाएंगे । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने निवास से सभी संभागायुक्तों और जिला कलेक्टरों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा के दौरान यह बात कही उन्होने कहा कि 11 जुलाई को सभी जिलों में बिजली बिल माफी प्रमाण पत्र देने और नये हितग्राहियों का पंजीयन कराने के लिये जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। मुख्य कार्यक्रम रतलाम जिले के जावरा में आयोजित होगा। सीएम ने कहा कि वे स्वयं जावरा से पूरे प्रदेश के हितग्राहियों को संबोधित करेंगे। उनका संबोधन दोपहर तीन बजे से सभी जिलों में सुना जा सकेगा।

2 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और जनसम्‍पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा तीन दिन पहले कश्मीर में शहीद हुए दतिया जिले के ग्राम रेव निवासी जवान रंजीत सिंह तोमर की अंत्येष्टि में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने शहीद जवान के परिजनों से भेंटकर उन्हें ढाँढस बँधाते हुए कहा कि रंजीत वास्तव में भारत माँ के सच्चे सपूत थे।

3 प्रदेश में 11 जुलाई को ऊर्जा विकास पर्व मनाया जायेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह रतलाम में आयोजित किये जा रहे ऊर्जा विकास पर्व में शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री पारस जैन और स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी उपस्थित रहेंगे। जिला-स्तरीय कार्यक्रमों में मंत्रि-परिषद के सदस्य शामिल होंगे। सामान्य प्रशासन विभाग ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों को आवंटित जिलों का आदेश प्रसारित किया है।
4 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सोमवार की सुबह टीकमगढ पहुंचे और पूर्व विधायक स्वर्गीय स्वामी प्रसाद लोधी के पार्थिव शरीर पर पुष्प-चक्र अर्पित कर दिवंगत आत्मा को श्रृद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री स्वर्गीय लोधी के अंतिम संस्कार में भी शामिल हुए और मोक्षधाम तक अंतिम बिदाई में कांधा दिया।