राज्य

प्रदेश की खबरे - चुनाव से पहले सरकार गरीबों को लाभ पहुंचाने में जुट गई है

Posted by Divyansh Joshi on



1
चुनाव से पहले शुरू की गई संबल योजना के तहत सरकार गरीबों को लाभ पहुंचाने में जुट गई है। इसी क्रम में बिजली बिल नहीं चुकाने वाले लाखों परिवारों का बिल माफ करने के लिए 11 जुलाई को सभी जिला मुख्यालयों पर जश्न मनेगा। इस दौरान हितग्राहियों को बिजली बिल माफी का प्रामण पत्र दिया जाएगा। रतलाम में होने वाले मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं ऊर्जा मंत्री पारस जैन मौजूद रहेंगे। जबकि अन्य जिलों में मंत्री रहेंगे। मुख्यमंत्री दूसरे जिलों के कार्यक्रमों को लाइव संबोधित करेंगे।
2
भारतीय जनता पार्टी अगले विधानसभा चुनाव में एक बार फिर दिग्विजय शासनकाल को भुनाने की तैयारी में है। पार्टी आगामी कार्यक्रमों को लेकर जनता के बीच जा रही है, जिसमें भाजपा सरकार के विकास एवं कांग्रेस के दिग्विजय सिंह सरकार की खामियों को बताया जाएगा। भाजपा किसान मोर्चा 11 जुलाई से किसान चौपाल के माध्यम से इसकी शुरूआत करने जा रहा है। किसान चौपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से लेकर पार्टी के पदाधिकारी, सांसद एवं विधायक मौजूद रहेंगे।
3
विधानसभा चुनाव का दृष्टि पत्र तैयार करने के लिए भाजपा ने संभागीय समितियों का गठन किया है। भोपाल संभाग की कमान रघुनंदन शर्मा व इंदौर संभाग की जिम्मेदारी कैलाश विजयवर्गीय को दी गई है। भाजपा के मुख्य प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने बताया कि 32 सदस्यीय मुख्य समिति में सभी वर्गों और अंचलों को प्रतिनिधित्व दिया गया है। 24 स्थानों पर जनप्रतिनिधि हर क्षेत्र में संवाद स्थापित करेंगे।
4
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मामले में मप्र ने लंबी छलांग लगाई है। पिछले साल 22वें नंबर के मुकाबले प्रदेश इस बार 97.31 प्रतिशत अंकों के साथ सातवें स्थान पर आकर टॉप टेन की सूची में शामिल हुआ है। हालांकि प्रदेश 2016 की रैंकिंग से आगे नहीं जा सका है। 2016 में मप्र टॉप 5 राज्यों में शामिल था।
5
चुनाव आयोग ने मध्यप्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) सलीना सिंह को हटा दिया है, उनकी जगह 1992 बैच के आईएएस अफसर वीएल कांताराव को नया सीईओ बनाया गया है। आयोग ने नए सीईओ की पोस्टिंग के लिए राज्य सरकार से पैनल मांगा था। इसी आधार पर मंगलवार को वीएल कांताराव के आदेश आयोग ने जारी कर दिए।