राज्य

प्रदेश की खबरे - मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 11 जुलाई ऊर्जा विकास पर्व मनाने का ऐलान किया है

Posted by Divyansh Joshi on



1
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 11 जुलाई को ऊर्जा विकास पर्व मनाने का ऐलान किया है। यह पर्व प्रदेश के सभी जिलों में बिजली बिल माफी प्रमाण पत्र देने और नए हितग्राहियों का पंजीयन कराने के लिए होगा। मुख्यमंत्री ने सोमवार को संबल व बिजली योजना की समीक्षा में कहा, कमिश्नर अपने दिन की शुरुआत संबल योजना की समीक्षा से करें।
2
मध्यप्रदेश में साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग के अधिकारियों ने सोमवार को समीक्षा की। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में हुई बैठक में सामान्य प्रशासन विभाग से कहा गया कि एक सप्ताह में तीन साल से एक स्थान पर जमे अफसरों के तबादले किए जाएं। खाली पदों को तत्काल भरा जाएगा। प्रतिनियुक्ति पर गए अधिकारियों को वापस बुलाएं। कलेक्टरों से कहा गया कि अपना सूचना तंत्र पुख्ता रखें। मीडिया से पहले आयोग को आपके जरिए सूचना मिलना चाहिए।
3
आगामी विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जनता का आशीर्वाद लेने के लिए निकल रहे हैं। इसी हफ्ते 14 जुलाई शनिवार को उज्जैन में महाकाल की पूर्जा-अर्चना के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जनआशीर्वाद यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। यात्रा अलग-अलग चरणों में 55 दिन में 230 विधानसभा क्षेत्रों से होकर निकलेगी। इस दौरान मुख्यमंत्री हर विधानसभा क्षेत्र मे एक विशाल सभा को संबोधित करेंगे, जबकि 475 से ज्यादा रथ सभाएं भी करेंगे। जनआशीर्वाद यात्रा के संयोजक एवं सांसद अजय प्रताप सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा का पूरा कार्यक्रम तय हो चुका है।
4
मध्यप्रदेश में मानसून सक्रिय है और अगले 48 घंटों में भारी वर्षा की आशंका है। कई बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं। ये चेतावनी मध्यप्रदेश शिवराज सिंह चौहान ने दी है। अपने ट्वीटर अकांटर पर एक पोस्ट के जरिए सीएम शिवराज ने चेतावनी जारी करते हुए लिखा कि शासन-प्रशासन बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए तैयार है लेकिन लोग भी सतर्क रहें।
5
अपनी ही पार्टी को विधानसभा में कटघरे में खड़ा करने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने एक बार फिर पार्टी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाये हैंद्य चुनाव को लेकर उम्मीदवारों के चयन प्रक्रिया पर गौर ने सवाल खड़े किये हैंद्य गौर ने कहा पहले सक्रीय कार्यकर्ताओं की सुनी जाती थी, लेकिन अब टिकट बांटने का सिस्टम बदल गया हैद्य पार्टी में अब एनजीओ उम्मीदवारों का सर्वे करते हैं द्य उन्होंने कहा अमित शाह, सीएम अपने-अपने तरीके से सर्वे करवाते हैंद्य