राज्य

प्रदेश की खबरे - मुख्यमंत्री चौहान पहुंचे एमवाय अस्पताल और जाना मंदसौर की पीड़िता का हाल

Posted by Divyansh Joshi on



1
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज इंदौर में एमवाय अस्पताल पहुँचे और मंदसौर की पीड़ित बालिका के संबंध में चिकित्सकों से जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि हिन्दू धर्म में बालिका को देवी का रूप माना गया है, वह पूजनीय है, उसके चरण धोकर माथे पर चढ़ाया जाता है।उन्होंने कहा कि वे शुरू से ही दुष्कर्म पीड़ित बालिका के संबंध में एमवाय अस्पताल के अधीक्षक से प्रति-दिन व्यक्तिगत रूप से जानकारी हासिल कर रहे हैं।

2
मध्य प्रदेश के नक्शे में जल्दी ही बड़ा फेरबदल होने वाला हैद्य टीकमगढ़ जिले की निवाड़ी तहसील को नया जिला बनाया जाने वाला हैद्य यह प्रदेश का 52 वां जिला होगाद्य स्थानीय विधायकों और आमजनता की यह मांग थी, लम्बे समय से इस मांग को पूरी होने का इंतजार कर रहे लोगों का इंतजार बस खत्म होने को है, जल्दी ही इसकी अधिसूचना जारी हो सकती है द्य

3
एमपी के बीएड पास अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी है। अब बीएड पास अभ्यर्थियों का शिक्षक बनने का सपना और भी आसान हो गया है।नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) ने बीएड डिग्रीधारियों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है । राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बनने की अर्हता में संशोधन करते हुए बीएड को भी शामिल कर लिया है।हालांकि इसके लिए उन्हें पात्रता परीक्षा पास करनी होगी।

4
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं अब नए कलेवर में नजर आएंगे। इसके लिए यूनिफार्म के कलर और डिजाइन में बदलाव किया जा रहा है। कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं के लिए दुपट्टे की जगह जैकेट एवं कक्षा 1 से 8वीं तक की छात्राओं के लिए ट्यूनिंग, शर्ट के साथ अब लैगिंग्स भी रहेगी।छात्रों की यूनिफार्म के कलर में बदलाव किया जाएगा। राज्य शिक्षा केंद्र ने शासन को इस संबंध में प्रस्ताव भेजा है, जिस पर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।

5
मध्‍यप्रदेश से बाबा बर्फानी के दर्शन करने गए अमरनाथ यात्रियों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। वहां लगातार बारिश व भूस्खलन के कारण हालात काफी हद तक बिगड़ चुके हैं। दो दिन से एक बार फिर 4 जून से यात्रा रोक दी गई है। एक अनुमान के अनुसार प्रदेश के एक हजार से अधिक यात्री अमरनाथ मार्ग पर फंसे हुए हैं।भोपाल से 29 जून को जत्था अमरनाथ यात्रा के लिए निकला था, लेकिन अभी तक पवित्र गुफा की चढ़ाई करने का मौका नहीं मिला है।