व्यक्तित्व

ललितपुर को दुल्हन की तरह सजावट आचार्य श्री विद्यासागर महाराज के ऐतिहासिक आगमन की तैयारियां

Posted by khalid on



उत्तर प्रदेश के ललितपुर में 31 वर्ष बाद आचार्य विद्यासागर जी महाराज का ससंघ आगमन 21 नवंबर की शाम को होने जा रहा है। 19 नवंबर 1987 को आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का आगमन ललितपुर हुआ था। अभी उनके साथ 50 दिगंबर जैन साधु साथ चल रहे हैं।इस आगमन को लेकर ललितपुर के सभी समाज के लोगों में अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिल रहा है।जिस रोड से उनका आगमन हो रहा है।उसमें कई किलोमीटर रोड पर जगह-जगह रंगोली सजाई जा रही है। इमारतों में लाइटिंग हो रही है।रैंप जगह जगह बनाए जा रहे हैं। ललितपुर के सभी जैन मंदिरों में लाइटनिंग की गई है दीपावली की तरह आचार्य श्री के आगमन को दीपोत्सव पर्व के रूप में मनाया जा रहा है। अगवानी के लिए 108 बैंड पार्टी ललितपुर में अगवानी के लिए तैयार हैं। ललितपुर के इतिहास में आज तक ऐसा स्वागत और अगवानी किसी की नहीं हुई है।आचार्य श्री ससंघ खजुराहो मै चातुर्मास करके ललितपुर पधार रहे हैं। 24 नवंबर को आचार्य पद आरोहण कार्यक्रम भी बड़े पैमाने पर आयोजित किया गया है।जैन समाज और अन्य समाजों द्वारा उनके आगमन पर उनके स्वागत और पूजन अर्चन की सैकड़ों जगह तैयारियां चल रही हैं। ललितपुर के लोगों का कहना है, कि वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में यह ऐतिहासिक आगमन रिकॉर्ड किया जाएगा।