प्राइम टाइम

प्राइम टाइम - कमलनाथ के 40 सवाल जो शिवराज की नाकामी दिखाते है

Posted by Divyansh Joshi on



मध्यप्रदेश में आगामी 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव है , आचार संहिता लग चुकी है और सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। इस बीच प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस और उसके प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सोशल मीडिया के जरिए भाजपा की शिवराज सरकार पर हमले करने की तैयारी में 40 ऐसे सवाल तैयार किए है जो शिवराज सरकार की नाकामी दिखाते है। अपने ऐलान के मुताबिक मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्विटर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान से सवालों का सिलसिला शुरू कर दिया है. इसी क्रम में कमलनाथ ने शिवराज से पहला सवाल पूछा है. पहली कड़ी में कमलनाथ ने प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर शिवराज सरकार को घेरा है। साथ ही यह दावा किया है कि मोदी सरकार में सामने आए आंकड़ों के जरिए ही वे प्रदेश सरकार की बदहाली का हाल जनता को बता रहे हैं ...नाथ ने प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था ओं की बदहाली को लेकर आरोप भी लगाए हैं साथ ही यह भी बताया है कि यह आंकड़ा राज्यसभा में 31 जुलाई 2018 को एक जवाब के आधार पर है। 20 जिलों में स्वास्थ्य सेवाएं बेहद खराब होने का भी आरोप लगाया है । कमलनाथ ने पहला सवाल करते हुए प्रदेश सरकार से पूछा है कि प्रदेश और केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य सेवाएं क्यों ध्वस्त कर दी । नाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य सेवाओं पर सवाल खड़ा कर रही है कमलनाथ ने आरोप लगाया कि स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रदेश सरकार मात्र 716 रुपए खर्च करती है जो राज्य में सबसे निचले क्रम पर है ।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने 31 जुलाई 2018 -अतारांकित प्रश्न संख्या (1550) राज्यसभा ,और एनएचएम रिपोर्ट के आधार पर पूछे हैं ।
सवाल के साथ कमलनाथ ने बताया कि प्रदेश के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में 1117 डॉक्टर चाहिए लेकिन इनमें 817 पद खाली पड़े हुए हैं ।वहीं उन्होंने कहा की प्रदेश में 1236 प्रसूति एवं स्त्री बाल रोग सर्जन विशेषज्ञ डॉक्टर की जरुरत है लेकिन प्रदेश में सिर्फ 180 डॉक्टर ही उपलब्ध है । कमलनाथ ने कहा की नर्सिंग स्टाफ में 1413 पद ,रेडियोग्राफर के 136 , फार्मासिस्ट के 218, प्रयोगशाला तकनीशियन के 430, उपकेंद्र पर महिला स्वास्थ्य कर्मियों के 2016 पद , प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य कर्मियों के 2174 पद, उप केंद्रों में पुरुष स्वास्थ्य कर्मियों के 5458 पद, पीएचसी में स्वास्थ्य सहायक के 628 पद खाली पड़े हुए हैं ।
नाथ ने दावा किया कि मोदी सरकार बताती है कि प्रदेश का ऐसा दूसरा राज्य है जहां जिलों में स्वास्थ्य सेवाएं बेहद खराब है । कमलनाथ ने बताया कि जिन 20 जिलों में स्वास्थ्य सेवाएं खराब है उनमें डिंडोरी, बड़वानी, पन्ना, सीधी, छतरपुर, शहडोल, टीकमगढ़ ,झाबुआ, अलीराजपुर, मंडला, दमोह, सतना, अशोकनगर ,शिवपुर, विदिशा ,सिंगरौली, खंडवा, राजगढ़ , और गुना शामिल है ।
कमलनाथ ने ऐलान किया है कि वो आने वाले 40 दिनों में शिवराज सरकार से ऐसे 40 सवाल पूछेंगे जो उनकी सरकार को हिलाकर रख देंगे और चुनाव का रुख पलट देंगे। अब देखना होगा कि कमलनाथ के सवालों के जवाब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान कैसे देते है औऱ उनके इन तीखे सवालो के वार कैसे झेलते है ।