क्षेत्रीय

जबलपुर लाइव

Posted by Divyansh Joshi on



1 -कल से गणेश चतुर्थी का आगाज हो रहा है , लिहाजा बाजारों में भगवान गणेश की आकर्षक प्रतिमा भी सजना शुरू हो गई है . वही बाजार में उपलब्ध गणेश प्रतिमाएं पीओपी की है या मिट्टी की इसकी जांच के लिए जबलपुर कलेक्टर ने प्रदूषण बोर्ड और नगर निगम सहित राजस्व की एक संयुक्त टीम गठित की . जिसके बाद यह टीम जिलेभर में उन गणेश प्रतिमाओं पर नजर रखेगी जिन्हें पीओपी बनाया जा रहा है। जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज ने गणेश प्रतिमा के पीओपी से बनाने और उसके भंडारण करने को लेकर धारा 144 लगाते हुए रोक लगा दी है . कलेक्टर छवि भारद्वाज ने कहा कि जो भी पीओपी से गणेश प्रतिमा बनाते हुए पाया जाता है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि लगातार नदियों में हो रहे प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पीओपी से बन रही मूर्तियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

2-जबलपुर शहर की सबसे प्रमुख सड़को में एक रानीताल से कछपुरा तक कि सड़क । ये सड़क कई सालों से खराब है , जिसके चलते कई बार आंदोलन भी किये गए पर निगम ने कोई सुध नहीं ली । वही बुधवार को इसी सड़क के लिए कांग्रेस नेताओं ने प्रदर्शन किया । इतना ही नहीं खराब सड़क को लेकर कांग्रेस नेता महेश पटेल ने बीच सड़क में समाधि ले ली . इस दौरान महेश के साथ कई कांग्रेस नेता भी मौजूद थे। विरोध प्रदर्शन कर रहे नेताओ का आरोप है कि यहाँ की सड़क कई सालों से खराब है और इस वजह से दुर्घटना हो रही है , पर ये देखने वाला कोई नही है। समाधि पर बैठे कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जब तक सड़क नही बनेगी तब तक समाधि का ये कार्यक्रम चलता रहेगा । वही बीच सड़क पर हो रहे इस प्रदर्शन से जाम लग गया नतीजन आम जनता को घंटो तक परेशान होना पड़ा ।

3 जबलपुर में अवैध मादक पदार्थों के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है । इसके चलते क्राइम ब्रांच और ओमती थाना पुलिस ने तैयब अली चौक के पास दीक्षित प्राइड काम्प्लेक्स में छापा मारा . आपको बता दे कि इस जगह पर रिजवान खान रेस्टॉरेंट में हुक्का बार चल रहा था । बिना लाइसेंस के अवैध रूप से चल रहे हुक्का बार मे पुलिस ने 7 युवको को हिरासत में लिया , साथ ही पुलिस ने हुक्का बार के मालिक को भी हिरासत में लिया . जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ करवाई की .

4- जबलपुर में जिले के युवा क्रांति की कार्यकारणी महाविद्यालयो में घोषित की गयी . कार्यकरणी की शुरुआत जबलपुर के ही जीएस कॉलेज से हुई . शहर में शुरू हुई युवा क्रांति के इस पहल से छात्रों को अपनी बात रखने में काफी मदद मिलेगी . वही कमजोर छात्रों की आवाज उठाने में भी युवा क्रांति अपना पूरा सहयोग प्रदान करेगी .