राज्य

प्रदेश की खबरे - एएसआई अमृतलाल भिलाल की मौत के बाद उन्हें शहीद का दर्जा दिया गया

Posted by Divyansh Joshi on



1
निशातपुरा थाने के एएसआई अमृतलाल भिलाल की मौत के बाद उन्हें शहीद का दर्जा दिया गया है। वहीं उनके पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि देने आज सुबह सीएम शिवराज सिंह चौहान, डीजीपी ऋषिकुमार शुक्ल, आईजी भोपाल जय दीप प्रसाद, डीआईजी धर्मेंद्र चौधरी, एसपी हमेंत चौहान और राहुल कुमार लोढ़ा सहित अन्य पुलिस के अधिकाकरी व कर्मचारी पहुंचे।यहां सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शहीद एएसआई अमृतलाल भिलाला को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी।श्रंद्धाजलि समारोह नेहरू नगर पुलिस लाइन में किया गया।
2
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्य सचिव बीपी सिंह को हटाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि मप्र में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सिंह को छह महीने की सेवावृद्धि दिया जाना गलत है, क्योंकि उनका कार्यकाल चुनाव तक रहेगा। इसलिए निष्पक्षता के लिए सिंह को तुरंत हटाया जाए।कमलनाथ ने आयोग से आग्रह किया गया है कि मुख्य सचिव को बदलने के लिए राज्य सरकार को निर्देशित किया जाए।
3
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्य सचिव बीपी सिंह को हटाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि मप्र में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सिंह को छह महीने की सेवावृद्धि दिया जाना गलत है, क्योंकि उनका कार्यकाल चुनाव तक रहेगा। इसलिए निष्पक्षता के लिए सिंह को तुरंत हटाया जाए।कमलनाथ ने आयोग से आग्रह किया गया है कि मुख्य सचिव को बदलने के लिए राज्य सरकार को निर्देशित किया जाए।
4
कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने उज्जैन के पत्रकार जय कौशल पर जानलेवा हमले का विरोध किया है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर आरोपियों की शीग्र गिरफ्तारी की मांग की हैद्य साथ ही दिग्विजय ने प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा अधिनियम बनाए जाने की मांग की हैद्य दिग्विजय ने ट्वीट कर भी प्रदेश में पत्रकारों पर हुए हमलों के ग्राफ जारी कर सरकार पर निशाना साधा हैद्य
5
बीते साल सूखे की वजह से बर्बाद फसलों के नुकसान की भरपाई प्रदेश सरकार फसल बीमा से करेगी। खरीफ 2017 के लिए 17 लाख 17 हजार किसानों को 5 हजार 300 करोड़ रुपए से ज्यादा का बीमा दिया जाएगा। इसकी शुरुआत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने कर्म क्षेत्र विदिशा से पांच जुलाई को करेंगे।प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू होने के बाद किसी प्रदेश में एक सीजन में वितरित होने वाली यह सबसे बड़ी राशि है।