राज्य

MP News-कर्ज से परेशान था किसान, पेड़ से लटका मिला कंकाल

Posted by Avneesh Rai on



प्रदेश में कर्ज के बोझ के तले दबे किसानों का आत्महत्या करने का सिलसिला जारी है. अब सागर के कुमेरिया गांव में एक किसान ने पेड़ से फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली. किसान पिछले दस दिनों से लापता था. जानकारी के अनुसार पिछले दो सालों से वह परेशान था और दिन पे दिन उस पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा था. इसी बात से परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच की जा रही है।

प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनावों को लेकर कांग्रेस ने शनिवार को राहुल और प्रियंका गांधी वाड्रा की फोटो के साथ दोबारा अपने वचन पत्र का विमोचन किया। हालांकि, अब इस वचन पत्र से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह गायब हैं। शनिवार को पीसीसी चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने सरकारी आवास पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी और पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा की उपस्थिति में इसे जारी किया। इसको लेकर भाजपा नेता और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि यह कमलनाथ का वचन नहीं, कपट पत्र है। जनता सब जानती है।

आज से शारदीय नवरात्र शुरू हो गए हैं। कोरोना काल में नवरात्र शुरू हुए हैं। ऐसे में सरकार ने मंदिरों को खोलने और कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने के आदेश जारी कर दिए हैं। एहतियात के साथ माता के दरबार खुलेंगे। वहीं, राजधानी में भोपाल में पंडाल सज गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भांडेर, अंबाह और सुमावली में भाजपा के प्रत्याशियों के समर्थन में आम सभा की। सुमावली में उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने भ्रष्टाचार का विकेंद्रीकरण कार्यकर्ताओं तक करने का महापाप प्रदेश की धरती पर किया है। रोज पैसे समेटना, थोड़े बहुत बांट देना सब जानते हैं। कहते हैं कि मैं मिस्टर क्लीन हूं.. दिल्ली में पूरी दुनिया जानती है इन्हें मिस्टर 15ः के रूप में। शिवराज ने कहा- 2018 के चुनाव में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी। हम तो संतुष्ट थे कि चलो अब विपक्ष में बैठना है, लेकिन 15 महीनों तक कमलनाथ रोते ही रहे कि बजट नहीं है। हमने सरकार बनने के 6 महीने में करोड़ों की सौगात दी।

प्रदेश की 6800 से ज्यादा अवैध कॉलोनियां फिलहाल वैध नहीं होंगी। राज्य सरकार ने अवैध कॉलोनियों के नियमितीकरण का प्रावधान खत्म कर दिया है। नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह के मुताबिक 3 जून 2019 को हाईकोर्ट ने इस धारा पर आपत्ति जताते हुए अवैध कॉलोनियों के नियमितीकरण पर रोक लगा दी थी। इसके बाद नगरीय प्रशासन ने एडवोकेट जनरल से राय ली और प्रावधान को विलोपित करने का फैसला लिया। सरकार अब इसके नए नियम बनाने जा रही है, जिसे विधानसभा में एक्ट के रूप में लाने के बाद लागू किया जाएगा। इसके बाद अवैध कॉलोनी को वैध करने की प्रक्रिया शुरू होगी।

खासगी ट्रस्ट और इसके ट्रस्टी सतीश मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सरकार की संपत्तियों पर कब्जा लेने, ट्रस्ट व ट्रस्टी की जांच ईओडब्ल्यू को सौंपने और मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाए जाने के हाई कोर्ट के आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अभय मनोहर खानविलकर, जस्टिस बीआर गवई की खंडपीठ ने लगभग सवा घंटे वीडयो कॉन्फ्रेंसिंग से चली सुनवाई के बाद कहा कि 2 दिसंबर को अंतिम रूप से इस मामले को सुना जाएगा।

भांडेर के सालोन बी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सभा को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान सीएम और जनता का अभिवादन करने के लिए भांडेर से भाजपा प्रत्याशी रक्षा सिरौनिया के पति संतराम सिरौनिया मंच पर ही साष्टांग हो गए। इस दौरान उन्होंने कहा- कमलनाथ ने कोई विकास कार्य नहीं कराए इसलिए आपको मुंह दिखाने लायक नहीं बचा था। अब इस लायक बना देना, क्योंकि भाजपा की सरकार है तो विकास की कमी नहीं आएगी।

जहरीली झिंझर शराब (पोटली) से हुई मौतों के तार निगमकर्मियों से होते हुए खाराकुआं थाने की पुलिस तक पहुंच गए हैं। जांच के लिए उज्जैन पहुंची एसआईटी के सामने खुलासा हुआ कि जहरीली शराब बनाने से लेकर बेचने तक के खेल में दो पुलिसकर्मियों की भूमिका है। दोनों से गृह विभाग के सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने पूछताछ भी की है। इन दोनों के खिलाफ पुलिस अब विभागीय कार्रवाई की तैयारी में है और इन पर एफआईआर भी दर्ज की जाएगी।

उपचुनाव में राजनेताओं की आरोप-प्रत्यारोपों की राजनीति चरम स्तर पर पहुंच गई है। 3 दिन पहले मुरैना के बागचीनी में आए पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा ऐदल सिंह पर बतौर माफिया शिकंजा कसने व कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह द्वारा ऐदल सिंह को रेत माफिया, शराब तस्कर कहे जाने पर भाजपा की चुनावी सभा में स्थानीय प्रत्याशी ऐदल सिंह कंषाना ने भी हमला बोला। उन्होंने सुमावली में हुई चुनावी सभा में सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह की मौजूदगी में कहा कि मैं तो किसान का बेटा हूं, कमलनाथ मुझ पर क्या शिकंजा कसेंगे।

नवरात्र में सलकनपुर देवीधाम के पट केवल 3 घंटे के लिए बंद रहेंगे। श्रद्धालुओं को रात 12 बजे से रात 3 बजे तक दर्शन नहीं हो सकेंगे। हर श्रद्धालु की स्क्रीनिंग होगी और मास्क लगाना जरूरी होगा। श्रद्धालुओं को मंदिर में सीढ़ी मार्ग की तरफ से दर्शन के लिए मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा और फिर दूसरी तरफ से लोग कतार से बाहर निकलेंगे और बिना रुके उन्हें प्रांगण से जाना होगा। पहली बार सीहोर प्रशासन मां विजयासन के लाइव दर्शन कराएगा। इसके लिए ऑनलाइन दर्शन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

सफाई में चौका लगाने वाले इंदौर का 4-आर गार्डन देश में अब नई सुर्खियां बटोरेगा। इंदौर नगर निगम की टीम को मसूरी स्थित आईएएस ट्रेनिंग एकेडमी (लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन) से न्योता मिला है। इंदौर की टीम 19 अक्टूबर से 6 नवंबर तक मसूरी में रहकर प्रशिक्षु आईएएस को बताएंगे कि कैसे कचरे को आर्ट के जरिए फिर से इस्तेमाल लायक बनाया जा सकता है। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने बताया गोमा की फैल के केशव गार्डन को नगर निगम की टीम ने देश के पहले 4 आर गार्डन के रूप में तैयार किया था। इसमें 6 टन कचरे का इस्तेमाल कर भव्य स्वरूप तैयार किया गया था।

कोरोना संक्रमण के चलते शिक्षक और छात्र दोनों ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से संपर्क में हैं। डिवाइस के जरिए क्लास को पढ़ाना सुनने में जितना आसान लगता है, दरअसल यह उतना आसान है नहीं। टैक्नोफ्रेंडली न होने की वजह से ऑनलाइन क्लास में टीचर्स कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं। स्थिति यह है कि कई शिक्षक तनाव और अवसाद के शिकार हो रहे हैं। इसके चलते स्कूल शिक्षा विभाग ने नोडल एजेंसी उमंग हेल्पलाइन के माध्यम से मेंटल हेल्थ प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है। इसमें पहले चरण में भोपाल संभाग के 2,336 टीचर्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है। भोपाल में 835 टीचर्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है। भोपाल में 1300 सरकारी स्कूल हैं। वहीं प्राइवेट स्कूलों की संख्या 1200 के आसपास है।

सितंबर 2018 में इंदौर में पोलोग्राउंड की एक फैक्टरी से मिली सबसे महंगी ड्रग्स फेंटानिल मामले के तार दुनिया में सबसे बड़े ड्रग्स रैकेट मैक्सिको के सिनालोआ कर्टेल से जुड़ गए हैं। इसका खुलासा हाईकोर्ट में इसी मामले में आरोपी और जिला जेल में बंद विदेशी नागरिक सालिस फर्नांडीज की जमानत याचिका पर हुई सुनवाई में जांच एजेंसियों ने किया है।

जिले के युवा पर्वतारोही अचिंत्य राने और पार्थ पटेल ने हिमाचल धोलाधर रेंज की सबसे ऊंची चोटी हनुमान टिब्बा पर 10 अक्टूबर को तिरंगा फहरा दिया है। इस चोटी की ऊंचाई 5 हजार 982 मीटर है। इस जुनूनी मामा भांजे की जोड़ी ने एवरेस्ट की चढ़ाई की। अचिंत्य और पार्थ ने बताया गाइड सहित छह साथियों की टीम ने यह चढ़ाई 4 अक्टूबर से शुरु की। पूरी टीम ने यह चढ़ाई अल्पाइन स्टाइल से पूरी की है।

मंदसौर के दामाद माने जाने वाले रावण की खानपुरा स्थित विशाल प्रतिमा देख-रेख के अभाव में जर्जर हो रही है। इस बार दशहरे से 10 दिन पहले ही दशानन का एक सिर गिर गया। वहीं अन्य सिर भी जर्जर हो रहे हैं। 25 अक्टूबर को दशहरे पर नामदेव समाजजन सुबह रावण की पूजा-अर्चना करेंगे। नामदेव समाज जिलाध्यक्ष अशोक बघेरवाल ने बताया कि खानपुरा में करीब 200 साल से भी पुरानी रावण की प्रतिमा थी। करीब 2006-07 में आकाशीय बिजली गिरने से प्रतिमा टूट गई। उसके बाद नपा ने रावण की दूसरी प्रतिमा की स्थापना कराई। हर साल नपा प्रतिमा का रखरखाव कराती है।

ग्वालियर के कमलाराजा अस्पताल में भर्तीं 10 प्रसूताएं कोरोना पॉजिटिव आई हैं। जबकि पैरामेडिकल की छात्रा ने परीक्षा में बैठने से पहले जांच कराई तो वह भी संक्रमित निकली। इसके अलावा ऐसे लोगों की रिपोर्ट भी संक्रमित आई है जिन्हें किसी तरह के कोई लक्षण नहीं हैं। साथ ही कुछ लोगों की दूसरी व तीसरी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है। आलू अनुसंधान केंद्र की टेक्नीशियन की तीसरी रिपोर्ट लगातार पॉजिटिव आई है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि यदि शरीर में कोई परिवर्तन समझ में आए तो कोरोना की जांच कराकर तुरंत इलाज लें।

जबलपुर के निजी अस्पतालों में लूटखसोट को रोकने अब शासन-प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है। इसमें केंद्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना (सीजीएचएस) हेडक्वार्टर दिल्ली के निर्देश पर अपर निदेशक डॉ. रावत ने जबलपुर में पहली कार्रवाई की। शैल्बी हॉस्पिटल विजयनगर की सीजीएचएस मान्यता को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है। सीजीएचएस जबलपुर के अपर निदेशक द्वारा शुक्रवार को शैल्बी हॉस्पिटल के नाम पर जारी आदेश में कहा गया है कि सीजीएचएस जबलपुर के अंतर्गत जून 2017 से शैल्वी अस्पताल विजयनगर का एमओयू अनुबंध है। इसके बाद भी अस्पताल प्रबंधन ने एमओयू की शर्तों का पालन नहीं किया।

कोरोना संक्रमण के चलते पिछले सात माह से कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। कपड़ा, आटोमोबाइल, सराफा हो या अन्य कोई कारोबार सभी पर कोरोना का असर पड़ा है। लगातार लॉकडाउन व संक्रमण की वजह से कारोबार 30 से 40 फीसद भी नहीं हो रहा है। व्यापारी नवरात्र से त्योहारी सीजन की शुरुआत होने से कारोबार बढ़ने की उम्मीद जता रहे हैं। ऑटो इंडस्ट्री में गाड़ियों की बिक्री 30 फीसद तक बढ़ सकती है।

वेतन वृद्धि, महंगाई भत्ता और एरियर की राशि नहीं मिली तो कर्मचारी विधानसभा उपचुनाव के बाद विरोध प्रदर्शन कर सरकार की मुश्किल बढ़ा सकते हैं। गौरतलब है कि कर्मचारी चुनाव की तिथि घोषित होने के पूर्व भी कलमबंद हड़ताल कर नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। नवंबर के पहले सप्ताह में 28 सीटों पर मतदान होगा, दूसरे सप्ताह में परिणाम आएंगे। कर्मचारी संगठनों का कहना है कि अभी सरकार चुनाव कराने में जुटी है, इस वजह से अभी विरोध प्रदर्शन करने से कुछ हासिल नहीं होगा। चुनाव के बाद मजबूत रणनीति बनाकर विरोध दर्ज कराएंगे और लंबित लाभ लेकर रहेंगे।