राष्ट्रीय

देश एक्‍सप्रेस 21-06-22

Posted by Admin on



MPPSC में पूछा विवादित सवाल! मचा बवाल

MPPSC में पूछा पाकिस्तान को कश्मीर देने का विवादित सवाल

मप्र लोक सेवा आयोग की 19 जून को हुई प्रीलिम्स परीक्षा में कश्मीर को लेकर एक विवादित सवाल पूछा गया। प्रश्न पत्र में पूछा गया कि क्या भारत को कश्मीर को पाकिस्तान को दे देने का निर्णय ले लेना चाहिए? छात्रों को इस प्रश्न का उत्तर देने के लिए तर्क भी दिए गए हैं.  इसमें तर्क 1 दिया गया कि हां, इससे भारत का बहुत सा धन बचेगा। विवादित सवाल वायरल होने के बाद बवाल मच गया. विवाद बढ़ता देख लोक सेवा आयोग ने प्रश्नपत्र सेट करने वाले को नोटिस भेजते हुए MPPSC के सभी कामों को करने से रोक लगा दी है.

दुनियाभर में आज 8वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा

भारत समेत दुनियाभर में आज 8वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा। PM नरेंद्र मोदी कर्नाटक के मैसुरु पैलेस ग्राउंड में योग दिवस मनाने पहुंचे थे। उन्होंने करीब 15 हजार लोगों के साथ योग किया। PM मोदी ने योग की शुरुआत ताड़ासन, त्रिकोणासन, भद्रासन जैसे आसनों से की। इस अवसर पर PM मोदी ने कहा कि योग अब वैश्विक पर्व बन गया है। यह पार्ट ऑफ लाइफ नहीं, वे ऑफ लाइफ बन गया है।


मूसेवाला हत्याकांड में पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड (Siddhu Moose Wala) में पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने सिद्धू की हत्या में शामिल तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या को अंजाम देने वाले तीन शूटरों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने इन तीनों को गुजरात (Gujrat) के कच्छ इलाके से गिरफ्तार किया है.


इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले बड़ा झटका

टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले बड़ा झटका लगा है। अनुभवी स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस कारण वह भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड दौरे के लिए नहीं जा पाए हैं। कुछ खिलाड़ियों को छोड़कर पूरी टीम 16 जून को इंग्लैंड रवाना हो गई थी।

बाजार में जारी गिरावट से जल्दी राहत मिलने के आसार नहीं


शेयर बाजार में जारी गिरावट से जल्दी राहत मिलने के आसार नहीं हैं। हाल की गिरावट से निफ्टी-50 के हाई वैल्यूएशन में तो कमी आई है, लेकिन निफ्टी-500 में अब भी कई स्टॉक ऐसे हैं जो मार्च-2020 की बड़ी गिरावट के स्तर से भी औसतन साढ़े चार गुना महंगे हैं। आने वाले समय में इन स्टॉक्स में गिरावट का खतरा मंडरा रहा है।