व्यापार

बिज़नेस एक्‍सप्रेस 16-02-21

Posted by khalid on




बनना है मालामाल तो आज से है मौका
1
सरकार की इनफॉरमेशन और कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर वाली इस कंपनी का आईपीओ आज यानी 16 फरवरी को खुला है और 18 फरवरी को बंद होगा। इसमें सरकार अपनी 27 फीसदी हिस्सेदारी यानी 8.7 करोड़ शेयर बेच रही है। हालांकि इस इश्यू से जुटाई गई रकम कंपनी को नहीं मिलेगी बल्कि सरकार लेगी। रेलटेल कार्पाेरेशन सरकार की मिनिरत्न कंपनी है।

2
शेयर बाजार पर ग्लोबल मार्केट में तेजी का असर है। सेंसेक्स 229 अंकों की बढ़त के साथ 52,384.04 पर कारोबार कर रहा है। इसमें ओेएनजीसी का शेयर सबसे ज्यादा 4.57ः की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है।मेटल सेक्टर में सबसे ज्यादा खरीदारी है। मेटल इंडेक्स 3.60ः की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। निफ्टी भी कल की क्लोजिंग से 84 अंक ऊपर 15,398.85 पर कारोबार कर रहा है।


3
दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमत 46,826 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गई है। वहीं अगर चांदी की बात करें तो इसका भाव 67,894 रुपए प्रति किलोग्राम है। कोरोना संकट के बीच सोना और चांदी की कीमतें अगस्त 2020 में रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई थीं। तब सोना 56,200 रुपए पर पहुंच गया था। ऐसे में सिर्फ 6 महीनों में ही सोना 9 हजार 400 रुपए सस्ता हो गया है।

4
देश का बजट विदेशी निवेशकों को भी पसंद आ रहा है। जनवरी में शेयर बाजार में निवेश में सावधानी बरतने वाले ये निवेशक इस महीने जम कर निवेश कर रहे हैं। फरवरी में अब तक इक्विटी बाजार में विदेशी निवेशकों ने 18,883 करोड़ रुपए का निवेश किया है। जबकि जनवरी के पूरे महीने में केवल 19 हजार 473 करोड़ रुपए का निवेश किया था।

5
वोडाफोन आईडिया इस साल 2021-22 में अपनी 3जी सर्विस बंद कर देना चाहती है। कंपनी अब 4जी पर ध्यान देना चाहती है। 2जी सर्विस हालांकि कई और साल तक चलती रहेगी, क्योंकि देश में बेसिक फोन के उपभोक्ताओं की एक बड़ी संख्या है। कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधन ने कहा कि 25,000 करोड़ रुपए की फंड जुटाने की योजना को भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

6
कोविड-19 के चलते लोगों की निजी और पेशेवर जिंदगी में बड़ी उथल-पुथल मची। उनको अपनी जिम्मेदारियां पूरी करने के लिए कर्ज लेना पड़ा और वे उसमें बुरी तरह फंस गए। रिटेल लोन यानी आम लोगों की तरफ से लिया गया लोन 40 लाख करोड़ रुपये के लेवल पर पहुंच गया है। इसके साथ बैंकों का एनपीए (जिन लोन का मूल या ब्याज 90 दिन तक नहीं चुकाया जाता) भी बढ़ रहा है।