प्राइम टाइम

प्राइम टाइम- मोदी सरकार का बजट 2.0

Posted by Divyansh Joshi on



वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार 1 फरवरी को आम बजट पेश किया. इस बजट में सबसे पहले बात मध्यम वर्ग के इनकम टेक्स स्लेब की. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मध्य वर्ग को बड़ा तोहफा देते हुए आयकर यानी इन्कम टैक्स स्लैब में बड़ा बदलाव करने का ऐलान किया. निर्मला सीतारमण ने कहा कि पांच लाख तक की आय टैक्स फ्री होगी. यानि पांच से साढ़े 7 लाख रु सालाना की टेक्सेबल आय पर 10 फीसदी टैक्स लगेगा. यानी पहले की तुलना में देखें तो इसे 10 फीसदी कम किया गया है.इसके अलावा साढ़े सात लाख से 10 लाख रु की आय पर 15 फीसदी टैक्स देना होगा जो पहले की तुलना में पांच फीसदी कम है. 10 से साढ़े 12 लाख रु की करयोग्य आय पर 20 फीसदी टैक्स देना होगा. पहले यह आंकड़ा 30 फीसदी था. साढ़े 12 से 15 लाख रु की आय पर 25 फीसदी टैक्स लगेगा. यह आंकड़ा भी पहले 30 फीसदी था. 15 लाख रु से ज्यादा की आय पर पहले की ही तरह 30 फीसदी टैक्स देना होगा. हालांकि इसमें एक पेंच भी है. वित्त मंत्री ने ऐलान किया है कि ये नए स्लैब वैकल्पिक हैं. अगर किसी टैक्स पेयर को इनका फायदा लेना है तो उसे पुरानी रियायतें छोड़नी होंगी.यानी नए स्लैब का लाभ उठाने के लिए बीमा, निवेश, घर का किराया, बच्चों की स्कूल फीस आदि जैसे मदों के एवज में इन्कम टैक्स में मिलने वाली छूट को छोड़ना होगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण के दौरान बैंकिंग व्यवस्था को सुधारने की भी बात कही. उन्होंने बताया कि इसके लिए ठोस कदम उठाए जा रहे हैं जिनमें सख्त निगरानी भी शामिल है.

चलिए इन सबके बीच काफी मध्यप्रदेश में काफी प्रतिक्रयाएं भी आई । एक तरफ जहां भाजपा ने इसे गरीब वर्ग का बजट बताते हुए अब तक सबसे अच्छा बजट बताया है तो प्रदेश में सत्ता धारी कांग्रेस ने कहा कि पूरे प्रदेश में कहीं भी गरीबी खत्म होते नही दिख रही । प्रदेश के राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि देश में महंगाई ने कमर तोड के रख दी है।
अब वापस बजट की बात करें तो वित्त मंत्री ने कृषि और सिंचाई क्षेत्र के लिए सबसे ज्यादा आवंटन का प्रस्ताव किया है. इसके साथ ही उन्होने कहा कि भारतीय रेलवे किसान रेल की विशेष पहल शुरू करेगा जिसमें दूध, मांस और मछली जैसे उत्पादों को लाने-ले जाने की व्यवस्था होगी । निर्मला सीतारमण ने जल जीवन मिशन के लिए 11500 करोड़ रु के आवंटन का भी प्रस्ताव किया है. वहीं शिक्षा क्षेत्र के लिए 99300 करोड़ रु देने का प्रस्ताव किया है. सरकार का जोर बुनियादी ढांचे पर भी है. वित्त मंत्री ने बिजली और अक्षय ऊर्जा के लिए 22,000 करोड़ रुपये देने का प्रस्ताव किया है पोषाहार कार्यक्रमों के लिए 35,600 करोड़ रुपये, पर्यटन के लिए 2,500 करोड़ रुपये, भारत नेट कार्यक्रम के लिए 6,000 करोड़ रुपये , नेशनल इन्फ्रा पाइपलाइन के लिए 1 लाख 3 हजार करोड़ रुपये का प्रस्ताव रखा है। वहीं, निर्मला सीतारमण ने 2024 तक 100 नए हवाई अड्डे बनाने का ऐलान भी किया है. इसके साथ ही वित्त मंत्री ने कहा कि धन अर्जन करने वालों का देश में सम्मान होगा । 1 फरवरी, 2020 को. वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि सरकार लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी. वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि आईपीओ के जरिए सरकार अपनी हिस्सेदारी बेचेगी. इसका मतलब यह होगा कि भारत की सबसे पुरानी जीवन बीमा कंपनी अब निजी हाथों में चली जाएगी. तो यह था बजट 2 पाइंट जीरो जिसे मोदी सरकार ने पेश किया।