क्षेत्रीय

जबलपुर लाइव 13-01-21

Posted by khalid on



रानीताल स्पोटर्स काम्प्लैक्स में कल एक हाईवोल्टेज ड्रामा हुआ । उस वक्त हंगामा हो गया जबकि जम्मू से आई महिला के साथ पति रिछपालसिंह ने मारपीट कर दी. मारपीट होते देख आसपास के लोगों की भीड़ लग गई, महिला ने अपने पति पर छात्रा के साथ अवैध संबंध होने के आरोप लगाए हैं. मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया और महिला को थाना लेकर आ गई.


जिले में वैक्सीन के वितरण से लेकर वैक्सीनेशन की योजना को भी अंतिम रुप दिया जा चुका है। 16 जनवरी को पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए विभाग पूरी तरह तैयार है। इस चरण में जिले में हेल्थ सर्विस प्रोवाइडर को कोविड वैक्सीन लगाई जाएगी। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने विक्टोरिया अस्पताल में टीकाकरण कार्यक्रम की स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के साथ समीक्षा की और अगले कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी।


जबलपुर स्थित घाना खमरिया में शराब पीने को लेकर उपजे विवाद पर शिवकुमार द्विवेदी नामक युवक ने मिट्टी का तेल डालकर पत्नी ललिता द्विवेदी को जिंदा जला दिया. शरीर पर आग लगते ही ललिता ने शोर मचाया, जिसपर आसपास के लोग घरों से बाहर निकल आए, जिन्होने किसी तरह ललिता के शरीर से आग बुझाकर अस्पताल पहुंचाया, जहां पर महिला की हालत गंभीर बनी हुई है. इधर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर फरार हुए आरोपी पति शिवकुमार को तलाश करते हुए घने जंगल से गिरफ्तार कर लिया.



नगर निगम की रमनगरा प्लांट की पुरानी राइजिंग मेन लाइन को जोडने के लिए तीन दिन नलों में पानी बंद रहा। बुधवार की सुबह जब पानी पहुंचा तो वह पीने योग्य नहीं था। मिट्टी मिला पानी लोगों की बाल्टी में आया जिसे उपयोग नहीं किया जा सकता था। करीब आधे वक्त मटमैला पानी ही मिला जब पानी कुछ साफ होने लगा तब तक सप्लाई बंद हो गई। कई इलाकों में लोग ढंग से पानी ही नहीं भर पाए। ज्ञात हो कि नई पाइपलाइन जोडने के लिए तीन दिन के लिए सप्लाई बंद रखी गई थी। इस दौरान शहरवासी पानी के लिए हलाकान हो गए। हालांकि नगर निगम की तरफ से पहले ही सूचना दी गई थी लेकिन जिन इलाकों में पानी की वैकल्पिक इंतजाम नहीं थे वहां काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कई लोगों ने घरों में पहले ही पानी का स्टॉक कर रखा था।


जबलपुर में आबकारी महकमे की टीम ने अवैध शराब पर एक बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है।महकमे का एक कॉन्स्टेबल खुद खरीदार बनकर अवैध शराब बेचने वाले के मदन महल स्थित एक मकान पहुंचा।शानू सेन नाम के उस आरोपी से सौदा तय हुआ और जैसे ही उसने एक पेटी शराब कॉन्स्टेबल राकेश यादव को दी महकमे की टीम ने वहां दबिश दे दी। आबकारी अधिकारी जीएल मरावी ने बताया कि आरोपी शानू के मकान की तलाशी ली गई जहां बड़ी मात्रा में अंग्रेजी शराब की 22 पेटी बरामद की गई।शराब की कुल कीमत करीब 2 लाख रुपये बताई जा रही है।महकमे का कहना है कि प्रदेश के कुछ स्थानों में जहरीली शराब से जुड़ी वारदातें हुई है जिसे लेकर सतर्कता बरती जा रही है।



कोरोना संक्रमण में अपनी सेवाएं देने वाले जिला चिकित्सालय के  डाक्टरों को पिछले 3 माह से वेतन न मिलने पर डॉक्टरो ने मोर्चा खोल दिया है। डॉक्टरों ने बताया की कोविड -19 ड्यूटी ग्रामीण सेवा बांड के अंतर्गत इन्होने पदभार ग्रहण किया था। विगत अक्टूबर नवंबर और दिसंबर माह का वेतन अभी तक नहीं दिया गया है। वेतन न मिलने से इनको आर्थिक  परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सीएमएचओ से जब इस विषय पर बात की तो उनका कहना था की आवंटन न होने के कारण डॉक्टरों का वेतन नहीं हो पा रहा है आवंटन प्राप्त होते ही डॉक्टरों का भुगतान कर दिया जाएगा ,


नई फसल आने की खुशी और प्रकृति आराधना का पर्व लोहड़ी आज शहर में उत्साह के साथ मनाया गया। पंजाबी हिन्दू एसोसियेशन हाल और मदन महल, गोरखपुर और कुछेक होटलों में लोहडी मनाई गई। लोहड़ी संक्रांति के एक दिन पहले मनाया जाता है। शाम के समय आग जलाई जाती है जिसे लोहड़ी कहते हैं। इस लोहड़ी की पवित्र आग में गुड़, रेवड़ी, गजक, मूंगफली और फुल्ले डालकर आग के चारों ओर चक्कर लगाते हैं। माना जाता है कि लोहड़ी की आग के चारों ओर घूमने से वैवाहिक जीवन मधुर व मजबूत बनता है। साथ ही ऐसा माना जाता है कि लोहड़ी की आग में सारे दुख-तकलीफ जल जाते हैं और नए जीवन की शुरुआत होती है। इसके अलावा ये त्योहार पंजाब में किसानों का नया वर्ष भी कहलाता है। इसी दिन से ही घरों में नई फसल की पूजा की जाती है। शहर की नम्रता भाटिया ने बताया कि लोहड़ी के दिन परिवार में जो भी सदस्य नया आता है उसके साथ मिलकर लोहड़ी की पूजा करते हैं। जैसे यदि किसी बच्चे का जन्म होता है तो उसके साथ लोहड़ी मनाते हैं।


सूर्य के उत्तरायण होने का प्रकृति उत्सव मकर संकांति का पर्व आज मनाया जायेगा। सूर्योदय के समय से ही होने वाले स्नान के लिए शहर में स्थित नर्मदा तटों को तैयार किया गया है। बाजार में पतंगें, तिल-गुड़ के लड्डुओं की मांग बढ़ गई है। इसके साथ ही घरों में भी मकर संक्रांति उत्सव मनाने के लिए महिलाओं की तैयारियां पूरी हो गई हैं। छवि अवस्थी ने बताया कि उन्होंने बचपन से अपनी मां को इस दिन तिल के उबटन से स्नान करते देखा है और वही बात हम लोग भी पालन कर रहे हैं। रात में तिल भिगो दी गई है और आज सुबह उसे पीसकर तिल का उबटन बनाकर सबसे पहले उससे स्नान किया जायेगा। मका संक्रांति के पर्व पर आज नर्मदा तटों पर भी पुण्य स्नान करने वालों की भीड़ उमड़ेगी।


इंतजार की घडियां अब खत्म हो गई हैं। कल का प्रोग्राम बिगडने के बाद आज शहर को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खेप स्पाइस जेट के विमान से मिल गई। डुमना विमानतल पर उतारे जाने के बाद कोरोना वैक्सीन की खेप को सुरक्षित वाहनों के जरिये गोदाम तक पहुंचाया गया। स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों ने स्टोरेज सेंटर का आज सुबह एक बार फिर मुआयना किया और वैक्सीन को अपनी निगरानी में रखवाया। इस अवसर पुलिस ने जेड सिक्युरिटी जैसा इंतजाम किया था। वैक्सीन के पास तक केवल वह लोग ही पहुँच पाये जिनके नाम पुलिस को दिये गये थे। वैक्सीन गोदाम की सुरक्षा भी चाक चैबंद रखी गई है।


गुंडे-माफिया के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के क्रम में बुधवार को एक सटोरिए बाबू सलाम के खिलाफ कार्रवाई की गई। हनुमानताल क्षेत्र के आजाद नगर मोहरिया में सुबह अमला पहुंचा। सटोरिए का दो हजार वर्गफीट में निर्मित 50 लाख रुपए का मकान जमींदोज कर दिया गया। संकरी गली में मकान होने की वजह से मौके पर सिर्फ पोकलेन मशीन ही प्रवेश कर पाई। लगभग एक घंटे में निर्माण को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया गया।


आसमान साफ होते ही पारे ने साढ़े छह डिग्री सेल्सियस का गोता लगाया। इसका असर ये रहा कि गलन भरी उत्तरी हवाओं ने लोगों की कंपकंपी बढ़ा दी। धूप निकलने के बाद भी घरों के अंदर गलन से हाथ-पैर काम नहीं कर रहे थे। कल मकर संक्रांति पर अभी और गलन बढ़ेगी। सुबह लोग गुनगुनी धूप का आनंद लेते हुए दिखाई दिए। अधारताल स्थित मौसम विभाग केंद्र के अनुसार उत्तरी हवाओं के चलते मौसम में गिरावट आई है। सोमवार की रात न्यूनतम तापमान 13.1 डिग्री सेल्सिसय दर्ज हुआ था।

कोरोना से स्वस्थ होने पर 12 जनवरी को 30 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है । वहीं बीते चैबीस घण्टे के दौरान मिली 1 हजार 416 सेम्पल की परीक्षण रिपोर्ट्स में कोरोना के 28 नये मरीज सामने आये हैं । आज डिस्चार्ज हुये 30 व्यक्तियों को मिलाकर जबलपुर में कोरोना संक्रमण से मुक्त होने वाले मरीजों की संख्या 15 हजार 248 हो गई है और रिकवरी रेट 95.68 प्रतिशत हो गया है ।