प्राइम टाइम

प्राइम टाइम

Posted by khalid on



21 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मानाया जाएगा। इस बार यह भारत में झारखंड की राजधानी रांची में राजधानी रांची में आयोजित होने जा रहा है। जहां पर हजारों लोगों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खादी की चटाई पर योगासन करेंगे। वहीं इससे पहले पीएम मोदी ने देश वासियों में योग के प्रति जागरुकता लाने के लिए एनिमेटिड वीडियो की एक सीरीज शुरु की है जो उनके आफिशियल सोशल मीडिया एकाउंट में प्रतिदिन जारी किए जा रहे हैं। अब योग के उस पहलू की बात करते है जिसमें योग को इतनी वरीयता दी गई है। योग तन और मन से जुड़े तमाम तरह के रोग और विकारों को दूर कर मनुष्य का जीवन आसान कर देता है. यह मानव की हर तरह की शुद्धि का आसान उपकरण है. योग, भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी शैली है. योग विज्ञान में जीवन शैली का पूर्ण सार समाहित किया गया है.अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए 21 जून का दिन तय करने के पीछे भी एक वजह है. 21 जून साल का सबसे लंबा दिन होता है, यह मनुष्य को दीर्घ जीवन को दर्शाता है. ध्यान देने वाली बात है कि 21 जून को योग दिवस मनाने की पहल को मात्र 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया था. इससे पहले संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी भी दिवस प्रस्ताव को इतनी जल्दी पारित नहीं किया गया था.21 जून के दिन सूरज जल्दी उदय होता है और देरी से ढलता है. माना जाता है कि इस दिन सूर्य का तेज सबसे प्रभावी रहता है, और प्रकृति की सकारात्मक उर्जा सक्रिय रहती है.