राज्य

प्रदेश एक्सप्रेस

Posted by Divyansh Joshi on



1
मध्यप्रदेश में पीसीसी चीफ को लेकर लंबे समय से चल रही चर्चा पर अब विराम लगने वाला है। पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी आज पूर्व केन्द्रीय मंत्री और दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया मुलाकात करने वाली है। सबकी निगाहें इस अहम मुलाकात पर टिक गई है।


2
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 1984 में हुए सिक दंगों की फाइल दोबारा खोलने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। इस प्रस्ताव के पास होने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने पत्रकारों को बताया कि कमलनाथ के खिलाफ एसआईटी ने जांच की थी।


3
प्रदेश में साढ़े तीन हजार हेक्टेयर से ज्यादा रकबे की खरीफ फसल अतिवर्षा की भेंट चढ़ चुकी है। खेतों की सोयाबीन, मूंग, उड़द और सब्जी की फसलें बर्बादी की कगार पर हैं। राजस्व विभाग द्वारा कराए जा रहे सर्वे के प्रारंभिक आंकड़ों के हिसाब से अतिवर्षा से कई जगह फसलें पूरी तरह पानी डूब चुकी हैं। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि निदाई-गुड़ाई नहीं हो सकी।


4
मध्यप्रदेश के करीब 100 से अधिक विधायक व पूर्व विधायकों से आयकर विभाग द्वारा संपत्ति के ब्योरे में आए अंतर का खुलासा मांगा गया है। इनमें से कई लोगों ने विभाग को जो जवाब सौंपे हैं, उससे वह संतुष्ट नजर नहीं आ रहा। जिनसे जवाब मांगा गया था, उनमें कतिपय मंत्री भी हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान इन्होंने नामांकन पत्र के साथ हलफनामे में संपत्ति का जो ब्योरा दिया है, वह उनके द्वारा दी गई पिछली जानकारी से अलग है।


5
भोपाल और रायसेन के शहरी स्कूलों के 35 हजार छात्रों को अत्याधुनिक किचन में पका हुआ मध्यान्ह भोजन मिलेगा। अक्षयपात्र फाउंडेशन किचन स्थापित करेगा और दोनों जिले के शहरी क्षेत्र के स्कूलों में मध्यान्ह भोजन पहुंचाएगा। इसके लिए सोमवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ की मौजूदगी में एचईजी कंपनी मंडीदीप, अक्षयपात्र फाउंडेशन और भोपाल व रायसेन जिला पंचायतों के बीच करार हुआ।