राज्य

एम.पी.लाइव

Posted by khalid on



मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने मंगलवार को मंत्रालय में लोक निर्माण विभाग और मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम की गतिविधियों की समीक्षा करते हुए कहा कि सड़क निर्माण में कार्यरत विभिन्न एजेंसियाँ भ्रम दूर करते हुए एक ऐसी नीति तैयार करें, जिससे हर एजेंसी को अपना कार्य-क्षेत्र और दायित्व पता हो। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कई सड़कों का निर्माण अथवा मेंटेनेंस इसलिए नहीं हो पाता क्योंकि एक विभाग दूसरे विभाग को जिम्मेदार ठहराता है। उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान करते हुए समग्र नीति बनाई जाए ताकि सड़कों का निर्माण और संधारण बिना रूकावट के हो ।

मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि सड़कों के निर्माण के साथ पर्यावरण सुधार के लिए व्यापक पैमाने पर वृक्षारोपण भी होना चाहिए। उन्होंने सड़क निर्माण के प्रोजेक्ट में ही वृक्षारोपण का प्रावधान शामिल करने को कहा। श्री नाथ ने कहा कि सड़कों के दोनों ओर पौधारोपण हो, यह सुनिश्चित होना चाहिए।

नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने नई दिल्ली में केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री आर.के. सिंह से भेंट की। श्री यादव ने केन्द्रीय मंत्री को मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में किये जा रहे नवाचारों एवं अन्य कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर गुजरात और तमिलनाडु के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री भी उपस्थित थे।



दमोह जिले में 10 जून की रात में 10:45 बजे अज्ञात व्यक्ति द्वारा ग्रामीण फीडर में जान-बूझकर फॉल्ट बनाकर 22 गाँव की बिजली रोकी गई। ऊर्जा विभाग के कर्मचारियों द्वारा तत्काल कार्यवाही कर एक घंटे में फीडर चालू कर दिया गया। विभाग द्वारा थाना नोहटा में मध्यप्रदेश विद्युत अधिनियम के तहत अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई गई है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने निर्देश दिये हैं कि विद्युत कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी सतत् मॉनीटरिंग करें, और जहाँ भी इस तरह की गतिविधियाँ नजर आयें तो तुरंत एफआईआर दर्ज करवायें।


राज्य शासन के प्रदेश की तीन विशेष पिछड़ी जनजातियों सहरिया, बैगा और भारिया के लिये शासकीय सेवा में नियुक्ति के विशेष प्रावधान का पालन कराने के निर्देश दिये हैं। सामान्य प्रशासन विभाग ने समस्त सभी शासकीय विभागों, संभागायुक्तों, कलेक्टरों को इस संबंध में परिपत्र जारी किया है।