राज्य

प्रदेश एक्सप्रेस

Posted by Divyansh Joshi on



1
किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर निशाना साधा है। शिवराज ने मीडिया से चर्चा में कहा कि किसानों को सीएम की चिट्‌ठी नहीं, कर्ज माफी चाहिए।विधानसभा चुनाव के समय राहुल गांधी ने कहा था कि 10 दिन में कर्जा माफ नहीं हुआ तो मुख्यमंत्री बदल देंगे। कांग्रेस की सरकार बने 8 महीने हो गए हैं, अब तक तो 27 मुख्यमंत्री बदल जाने चाहिए थे।

2
गुमठी व्यापारियों के समर्थन में बिना अनुमति के सीएम हाउस, वल्लभ भवन, पुलिस महानिदेशक और संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव के चार इमली स्थित बंगले का घेराव के मामले में पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह (मम्मा) से 23 लाख 76 हजार 280 रुपए वसूली की जाएगी।

3
सरकार ने स्कूल शिक्षा विभाग में शिक्षकों के बड़ी संख्या में मनचाही पोस्टिंग दी है। अब सरकार स्कूल से गायब रहने वाले और शिक्षण कार्य में लापरवाही करने वाले शिक्षकों पर शिकंजा कसने जा रही है। समग्र शिक्षा अभियान की बैठक में मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने फरमान जारी किया है कि शालाओं में शिक्षकों की उपस्थिति का विशेष ध्यान रखने को कहा है। अनुपस्थित रहने या अपने दायित्व के प्रति लापरवाह शिक्षकों पर कठोर कार्यवाही और शालाओं में चल रहे विशेष कॉपी चेकिंग अभियान का भी कड़ाई से पालन किया जाए।

4
इन दिनों मध्यप्रदेश की राजनीति में कुछ भी ठीक नही चल रहा है। खास करके कांग्रेस में जमकर घमासान मचा हुआ है। आए दिन नेता अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैअब कांग्रेस राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के दिग्गज नेता विवेक तन्खा ने कमलनाथ सरकार की मंशा पर सवाल उठाए है। सांसद के सवाल उठाने पर कांग्रेस में खलबली मच गई है। अपनों की बयान बाजी अब सरकार के लिए चुनौती बनती जा रही है।दरअसल, तन्खा ने ट्वीट के माध्यम से नाराजगी जाहिर की है। तन्खा ने कहा है कि आवेदन के माध्यम से गिट्टी क्रेशर की खदानें सरकार देना चाहती है जबकी हाईकोर्ट ने नीलामी करके खदाने देने के आदेश दिए है । तन्खा ने सरकार को खदान संचालन में पारदर्शिता से काम करने की बात कही ।


5
मध्य प्रदेश में एक बार फिर मानसून सक्रिय हो गया है। इसके चलते शुक्रवार से राजधानी भोपाल में बारिश का जो सिलसिला शुरू हुआ था, वो आज भी जारी है। शनिवार सुबह से ही भोपाल में तेज बारिश हो रही है। इससे कई इलाकों में जलभराव की स्थिति बनी हुई है। भोपाल के अलावा होशंगाबाद, बैतूल में भी भारी बारिश हो रही है। इसके चलते नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ गया है। मौसम विभाग ने भी भोपाल के अलावा कई और जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।