राष्ट्रीय

National News-चीफ जस्टिस ने सुनवाई के दौरान दुकान से मंगाया गुटखा

Posted by Avneesh Rai on



झारखंड में गुटखा प्रतिबंध को लेकर फरियादी फाउंडेशन की ओर से दायर जनहित याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई हुई। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए खाद्य एवं सुरक्षा विभाग के विशेष सचिव चंद्र किशोर उरांव ने सरकार का पक्ष रखा। कोर्ट को बताया कि झारखंड में गुटखा पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया गया है। इस पर मामले की सुनवाई कर रहे चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन खुद पैसे देकर बाहर की दुकान से गुटखा मंगाया और सरकार के स्पेशल सचिव को दिखाते हुए पूछा- यह कैसा प्रतिबंध है? आपने कहा कि प्रतिबंध है और मैंने बाहर बिक रहा गुटखा मंगाकर दिखा दिया। इसके बाद सचिव ने कोर्ट को आश्वस्त करते हुए कहा कि सरकार की ओर से इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चीफ जस्टिस और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की बेंच ने गुटखे पर पूरी तरह बैन लगाकर जवाब देने का आदेश दिया। अगली सुनवाई 4 दिसंबर को होगी।

भारतीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोविड-19 के उपचार के लिए अमल में लाए जाने वाली प्रोटोकॉल की समीक्षा करने का निर्णय लिया है। यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक बड़े परीक्षण के नतीजे के बाद पाया गया कि आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं में से चार में अस्पताल में भर्ती मरीजों में होने वाली मृत्यु को कम करने में बहुत कम या कोई लाभ नहीं हो रहा है। इनमें एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिविर, मलेरिया ड्रग हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (एचसीक्यू), एंटी-एचआईवी संयोजन लोपिनवीर और रीटोनवीर और इम्युनोमोड्यूलेटर इंटरफेरॉन हैं। पहली दो दवाईयां कोविड-19 के मध्यम रोगियों के इलाज में दी जाती हैं।

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। हत्या और दुष्कर्म की वारदातों से यूपी थर्रा उठा है। आए दिन हो रही हत्याओं की वारदात से लोगों में खौफ का माहौल है। अब यूपी के सीतापुर जिले में क्षेत्र पंचायत सदस्य की हत्या का मामला सामने आया है। देर रात अज्ञात हमलावरों ने इस वारदात को अंजाम दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। हरगांव के फत्तेपुर मातिमपुर निवासी संतोष पुत्र ठाकुर प्रसाद की हत्या अज्ञात हमलावरों ने कर दी है। घटना देर रात की बताई जा रही है। सुबह उठने पर ग्राम हरिदासपुर के पास सड़क पर क्षेत्र पंचायत सदस्य का शव पड़ा मिला है।

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में शनिवार को दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। हादसे में सात लोगों की मौत हो गई है, जबकि 32 लोगों के घायल हो गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है। घटना पीलीभीत के पुरानापुर इलाके की है। एक बस और बोलेरो के बीच भीषण टक्कर हो गई। हादसे में सात लोगों ने दम तोड़ दिया है, जबकि 32 लोग घायल हुए हैं। एसपी पीलीभीत जयप्रकाश के मुताबिक हादसे में सात लोगों की मौत हुई है।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को शनिवार को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने अनंतनाग में एक मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी को मार गिराया है। सुरक्षाबलों का इलाके में तलाशी अभियान जारी है। खुफिया एजेंसी से सूचना मिली कि अनंतनाग के लारनु इलाके में आतंकी छिपे हैं। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चलाया। घेरा सख्त होने पर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। जिसमें एक आतंकी ढेर हो गया। सुरक्षाबलों ने एक एके-47 राइफल भी बरामद की है। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान जारी है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर बड़े पैमाने पर हथियारों से लैस चीनी सैनिकों की तैनाती भारत के लिए कड़ी सुरक्षा चुनौती है। उन्होंने कहा, एलएसी पर हुई हिंसक झड़प से भारत और चीन के बीच 30 वर्षों में कायम हुए संबंध बिगड़े हैं। विदेश मंत्री ने शुक्रवार को एशिया सोसायटी के एक वर्चुअल कार्यक्रम में कहा, 1993 से अब तक दोनों देशों के बीच कई करार हुए जिन्होंने शांति और स्थिरता कायम करने का ढांचा तैयार किया। इन करारों में सीमा प्रबंधन से सैनिकों के बर्ताव तक सब बातों को शामिल किया गया, लेकिन जो इस साल हुआ उसने सभी करारों को खोखला साबित कर दिया।

झारखंड सरकार की राज्य में गुटखा प्रतिबंधों को लेकर झारखंड हाईकोर्ट में किरकिरी हुई है। दरअसल, गुटखे पर प्रतिबंध लगाने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान सरकार ने न्यायाधीश से कहा कि झारखंड में इस पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस दौरान सुनवाई कर रहे न्यायाधीश ने खुद पैसे देकर गुटखा मंगवाया और पूछा कि यह कैसा प्रतिबंध है? फरियादी फाउंडेशन की तरफ से झारखंड में गुटखा प्रतिबंध को लेकर झारखंड हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई। शुक्रवार को इस मामले पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हो रही थी।

रिश्वत सुनते ही सबसे पहले दिमाग में यही आता है कि कोई रिश्वत लेते हुए पकड़़ गया या किसी ने रिश्वत की मांग या किसी ने रिश्वत दी लेकिन रिश्वत की राशि वापस लौटाते हुए पकड़े जाना बहुत कम देखा गया है। ऐसा ही मामला राजस्थान के बीकानेर से आया है। बीकानेर में शिक्षा विभाग के एक अफसर ने परिवादी से काम के बदले रिश्वत ली थी लेकिन वो काम पूरा ना हो सका। इसके बाद निराश परिवादी अधिकारी पर पैसा वापस करने के लिए दबाव बनाने लगा। अधिकारी जैसे ही परिवादी को उसके पैसे लौटाने लगे, तभी वो पकड़ा गया।

नीले आसमान और स्वच्छ हवा वाले कुछ महीनों के बाद दिल्ली-एनसीआर को डराने के लिए धुएं से भरे धुंधले आकाश के दिन लौट आए हैं। विशेषज्ञों ने लोगों को सर्दी के मौसम में सतर्क रहने की चेतावनी दी है। उनका कहना है कि हवा में प्रदूषण का ज्यादा स्तर कोविड-19 (कोरोना वायरस) के प्रभाव को ज्यादा बदतर कर सकती है। पर्यावरण व स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने खासतौर पर कोविड-19 के हमले की चपेट में आने की सबसे ज्यादा संभावना वाले लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतने को कहा है, क्योंकि हवा में मौजूद प्रदूषण की पुरानी बीमारी का संबंध गंभीर संक्रमण और ज्यादा मौत से होता है।

कोलकाता के गणेश चंद्र एवेन्यू में शुक्रवार रात पांच मंजिला एक आवासीय इमारत में लगी आग की चपेट में आने से 12 वर्षीय एक लड़के सहित दो लोगों की मौत हो गई। पश्चिम बंगाल के अग्निशमन सेवा मंत्री सुजीत बोस ने बताया कि इमारत से सभी लोगों को निकाल लिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक इस घटना में 12 वर्षीय एक बच्चे और एक बुजुर्ग महिला की मौत हुई है। इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि लड़के ने डर की वजह से इमारत की तीसरी मंजिल से छलांग लगा दी। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसने कुछ मिनटों के बाद दम तोड़ दिया।

उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी का चार दिवसीय अमेरिका दौरा आज से शुरू हो रहा है। दौरे में भारत और अमेरिका के बीच सैन्य सहयोग को और बढ़ाने के मुद्दे पर चर्चा होगी। लेफ्टिनेंट जनरल सैनी अमेरिकी सेना के प्रशांत कमान और हिंद-प्रशांत कमान के सैन्य घटक जाएंगे। इस दौरान सैनी अमेरिकी सैन्य नेतृत्व के साथ व्यापक रूप से विचारों का आदान-प्रदान भी करेंगे। यह दौरा भारत और अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच तय 2़2 संवाद से पहले हो रहा है। सेना की ओर से जारी बयान के मुताबिक, उप प्रमुख सैनी अमेरिकी सेना की प्रशिक्षण और उपकरण क्षमताओं को भी देखेंगे।

केंद्र सरकार ने डिजिटल मीडिया को मान्यता देते हुए उसके नियमन की राह खोल दी। अब न्यूज वेबसाइट भी सरकारी विज्ञापन ले सकेंगी। सरकार ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तर्ज पर डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म को खबरों में अनुशासन के लिए स्व-नियमन संस्था बनाने की अनुमति दे दी है। साथ ही डिजिटल न्यूज मीडिया में 26 फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तरीका स्पष्ट कर दिया है।

राजस्थान हाईकोर्ट ने गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति को महापंचायत बुलाने की अनुमति दे दी है। लेकिन महापंचायत बुलाने के लिए कुछ शर्तें भी रखी गई हैं। पहली शर्त यह है कि गुर्जर समाज को इसके लिए जिला कलेक्टर को एक उपक्रम सौंपना होगा और दूसरी शर्त यह है कि इस महापंचायत में 100 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी। राजस्थान हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब गुर्जर समाज ने आज से महापंचायत बुलाने का फैसला किया है।

जेएनयू का छात्र प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल ऑफ इंडिया का यूथ सलाहकार बनकर ठगी कर रहा था। उसने पीएमओ में सलाहकार होने का विजिटिंग कार्ड भी छपवा रखा था। आरोपी ने एक कारोबारी से 2.23 करोड़ रुपये की कीमत के मास्क का सऊदी अरब भिजवाने का झांसा दिया। मास्क की खेप विदेश भेजने के लिए उसने फर्जी लेटर जारी किया था। आईजीआई एयरपोर्ट थाना पुलिस ने आरोपी अनिकेत डे को असम से गिरफ्तार कर लिया है। डीसीपी राजीव रंजन ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

पाकिस्तान की ओर से आए दिन संघर्ष विराम उल्लंघन को नजरअंदाज करते हुए भारतीय सेना ने युद्ध में इंसानियत के उच्च मानक का उदाहरण पेश किया है। भारतीय सेना की श्रीनगर स्थित चिनार कोर ने नियंत्रण रेखा से सटे नौगाम सेक्टर में करीब 48 साल पुरानी पाकिस्तानी मेजर की कब्र की मरम्मत कर नया रूप दिया है। कब्र के पत्थर पर लिखा है- मेजर मोहम्मद शबीर खान, सितार-ए-जुर्रत शहीद की याद में जो पांच मई, 1972 को 9 सिख लाइट की जवाबी कार्रवाई में मारे गए थे। दरअसल पांच मई, 1972 को नौगाम के फॉरवर्ड पोस्ट पर पाक और भारतीय सेना केबीच झड़प हुई थी। वहां तैनात सिख लाइट रेजिमेंट के जवानों ने पाकिस्तान की टुकड़ी को करारा जवाब दिया जिसमें मेजर भारत की जमीन पर मारा गया।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को न्यूज चौनलों को लेकर केंद्र सरकार से पूछा कि क्या चौनलों पर प्रसारित कार्यक्रम से किसी को नुकसान पहुंचने से पहले ही जांच करने के लिए कोई व्यवस्था है? साथ ही सवाल किया कि यदि मीडिया अपनी ‘लक्ष्मण रेखा’ का उल्लंघन करता है तो यह सरकार व संसद की जिम्मेदारी है कि वह उसमें दखल देने के साथ ही कार्रवाई करे। अदालत को इसमें दखल क्यों देना चाहिए? इस मामले में सोमवार को भी बहस होगी।