क्षेत्रीय

Balaghat Live|Balaghat News-29-10-20

Posted by Avneesh Rai on



1
स्थानीय विश्राम गृह में ब्लॉक कांग्रेस कमेट़ी लालबर्रा व खमरिया द्वारा प्रदेष के किसानों एवं आमजन सामान्य की विभिन्न समस्याओं को लेकर महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपने एवं कांग्रेस पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं में रायषुमारी को लेकर बैठक का आयोजन बुधवार की दोपहर 02 बजें किया गया। यह बैठक पूर्व सांसद एवं वर्तमान जिला कांग्रेस कमेट़ी अध्यक्ष विष्वेष्वर भगत के मुख्य आतिथ्य एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेट़ी अध्यक्ष भाऊराम गाढेष्वर, उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र ढाण्डे, वरिष्ट कांग्रेसी रवि अग्रवाल, मनोहर अग्रवाल, दीपक अग्रवाल, पूर्व जिला पंचायत सदस्य मधुसूदन षर्मा, कांग्रेस जिला महामंत्री आनंद बिसेन सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों की प्रमुख उपस्थिती में प्रारंभ हुई।

2
बालाघाट 28 अक्टूबर को प्राप्त रिपोर्ट में बालाघाट जिले के 06 मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। शासन के प्रोटोकाल के अनुसार 28 मरीजों के ठीक हो जाने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस प्रकार बालाघाट जिले में अब तक कुल 1990 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। जिसमें 145 मरीजों का उपचार किया जा रहा है 12 मरीजों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर किया गया है और 10 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है।

3
बालाघाट कलेक्टर दीपक आर्य ने जिले की जनता से अपील की है कि वह कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए एस एम एस सोशल डिस्टेशिंग मास्क एवं सेनेटाईजर को अपनायें। जब भी घर से बाहर निकले और सार्वजनिक स्थल पर जायें तो सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते हुए दो व्यक्तियों के बीच कम से कम 06 फिट की दूरी बनाये रखें और चेहरे पर मास्क अवश्य लगायें। इसके साथ ही बार-बार हाथ धोने के लिए सेनेटाईजर या साबुन का उपयोग अवश्य करें। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए इन उपायों का सभी को अनिवार्य रूप से पालन करना है। बगैर मास्क के सार्वजनिक स्थलों पर घूमने वालों के लिए रोको-टोको अभियान चलाया जा रहा है और उनसे जुर्माना वसूल किया जा रहा है।


4
बालाघाट स्कूल शिक्षा विभाग के कम्प्यूटर आपरेटरों की सेवांए निरंतर रखे जाने की मांग को लेकर गुरूवार को आपरेटरो ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौपा। बताया गया कि स्कुल शिक्षा विभाग अंतर्गत प्रदेश एंव जिले में विकासखंड स्तर एंव संकुल स्तर पर आउटसोर्स के माध्यम से लोक शिक्षण संचानालय के माध्यम एंव कम्पनी के साथ अनुबंध कर नियमानुसार सम्पूर्ण प्रक्रिया पूर्ण कर आपरेटरो का चयन करते हुृए सेवाएं विभाग द्वारा लिया गया। उन आपरेटरो का कोरोना में भी सेवांए ली गई। जिसमें लगभग ७ माह का वेतन भी लंबित है।

5
बालाघाट जिले मे स्थित वन विभाग मे पदस्थ उपवनक्षेत्रपाल ,वनपाल,वनरक्षक वन क्षेत्रों मे अपनी पदस्थापना न कराकर कार्यालयों मे वर्षाे से जमे हुए है। जिले में यह स्थिति है कि वन मंडल कार्यालय उपवनमंडल, वनपरिक्षेत्र कार्यालय में संलग्रिकरण बताकर सैकड़ो मैदानी कर्मारी उपवनक्षेत्रपाल वनरक्षक आज के समय में अपनी बीट छोडक़र कार्यालय में बाबु गिरी का काम कर रहे है। जो कि वन विभाग के नियमों विपरीत है।

5
बालाघाट जिले मे चिटफंट कंपनी से जुडे मामले कई प्रकार की सुर्खियां बटोरते आये है। जहां चिटफंट कंपनी से जुडे लोग पीडितो की शिकायत पर पुलिस गिरफ्त में भी आ चुके है। लेकिन चिटफंट कंपनी से जुडा यह मामला कुछ अलग ही है। जहां शासकीय पद में पदस्थ शासकीय शिक्षकों के द्वारा सिविल आचरण आचार संहिता का उल्लंघन किया गया।


6
भरवेली थाना क्षेत्र के ग्राम सुरवाही मे खेत के पास एक मानव कंकाल मिलने से क्षेत्र मे सनसनी फैल गई। जिसकी सूचना भरवेली थाना को सूचना दी गई। पुलिस घटना स्थल पर पहुचकर कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सायल भिजवाया गया।जानकारी अनुसार खेत मे फसल काट रहे ग्रामीण दिलीप लिल्हारे ने यह नरकांकाल को देखा और पुलिस को सूचित किया। हालांकि पुलिस ने इस संबधम मे कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही पता चल पाएगा। लेकिन कंकाल पर लगे पकड़ो के संबध मे जानकारी जुटाई जा रही है।

7
नियमित तौर पर प्रशासनिक कार्रवाई होने के बाद भी मैग्नीज माफिया सक्रिय है। दो माह पूर्व विगत 23 अगस्त को ग्राम पोनिया क्षेत्र में तहसीलदार एवं थाना प्रभारी तथा स्टाफ ने छापामार कार्रवाई करते हुए लगभग 300 बोरियां उत्खनन किया हुआ मैग्नीज जप्त किया था। वही 24 अगस्त को मॉयल लिमिटेड की सुरक्षा सैनिकों ने रात्रि गश्ती के दौरान बगेर नंबर प्लेट की एक टाटा सुमो गाड़ी को पकडा था जिसमें लगभग 20 बोरी मैगनीज जप्त किया गया था।जानकार सूत्र तो यह भी बताते हैं कि विभागीय अधिकारी मॉयल लिमिटेड को सहयोग नहीं कर रहे है जिससे लीज स्वीकृति तथा अन्य कार्य भी नहीं हो रहे हैं।

8
बालाघाट। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी दीपक आर्य ने मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम के तहत स्नेह नगर बालाघाट निवासी बाकट के विरूद्ध जिला बदर की कार्यवाही करते हुए उसे एक वर्ष की अवधि के लिए बालाघाट सिवनीए मंडला एवं डिंडोरी जिले की राजस्व सीमाओं से निष्कासित करने के आदेश दिये है। वर्ष 1993 से 2020 तक भादवि की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत कुल 18 प्रकरण थाने में दर्ज है।