क्षेत्रीय

कुर्सी पर बैठे बैठे रुक गई युवक की सांसे

Posted by Divyansh Joshi on



कहते हैं जिंदगी की सांसे किसकी कब कहां रुक जाएं कहा नहीं जा सकता।
लेकिन मौत ऐसे भी आती है.l जैसे सीहोर जिले के अंतर्गत बिलकिसगंज में कुर्सी पर बैठे बैठे व्यक्ति की सांसें रुक गई और उसकी मोके पर ही मौत हो गई।
ग्राम खुरचनी निवासी जमनाप्रसाद का अंतिम समय का यह वाक्य सांची के दूध कलेक्शन सेंटर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। जहां कुर्सी पर बैठे बैठे जमुना प्रसाद अचानक मौत के घाट उतार गया।
मौके पर पहुँची बिलकिसगंज पुलिस ने पंचनामा बनाकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।