व्यक्तित्व

जन्मदिन विशेष - नरेंद्र सिंह तोमर

Posted by Divyansh Joshi on



नरेंद्र सिंह तोमर, मध्यप्रदेश की राजनीति में तेजी से उभरा ऐसा नाम, जिसने देखते ही देखते जनसेवा एवं राजनीति में अपना कद इतना मजबूत कर लिया कि उन्हें नजरअंदाज कर पाना सभी के लिए नामुमकिन सा हो गया। तोमर ने जनसेवा, अपने मृदुल व्यवहार, लोगों के सुख-दुख में जुड़ने एवं राजनीति में कुशल रणनीति के दम पर भारतीय जनता पार्टी, संगठन और सरकार की उपलब्धियां प्रदेश एवं केंद्र की राजनीति में अपनी अलग पहचान बनाई है जो विरलों को ही मिलती है।
राजनीती में मिस्टर कूल की पहचान वाले भाजपा के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का आज जन्म दिन है l 2 जून 1957 को जन्मे नरेंद्र सिंह तोमर ने, राजनीतिक जीवन की शुरुआत ,भारतीय जनता युवा मोर्चा से की। बिना किसी गॉडफादर के, फर्श से अर्श तक का सफर तय किया l नरेंद्र सिंह तोमर , संगठनात्मक क्षमता के साथ ही प्रशासनिक तंत्र में मजबूत पकड़ और कुशल रणनीतिकार के रूप में जाने जाते हैं। हर दायित्व को वह , पूरी जिम्मेदारी और निष्ठा के साथ निभाते हैं , जिसके कारण तोमर का , मोदी सरकार में एक विशिष्ट स्थान है l तोमर ने छात्र जीवन से ही ,राजनीति में अपनी धाक बनानी शुरू कर दी थी। कॉलेज के दिनों में ही वह छात्र संगठन के अध्यक्ष बने थे। ग्वालियर के भाजयुमो के अध्यक्ष बने, 1984 तक पद पर रहे। इसी बीच वह, ग्वलियर नगर निगम के पार्षद निर्वाचित हुए l तोमर का राजनितिक सफर शहर से निकलकर प्रदेश स्तर तक पंहुचा। उन्हें भाजयुमो का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया । तोमर पहली बार, 1998 में ग्वालियर से विधायक निर्वाचित हुए।इसी क्षेत्र से वर्ष 2003 में दूसरी बार चुनाव जीता। इस दौरान वे सुश्री उमा भारती, बाबूलाल गौर और शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में कई महत्वपूर्ण विभागों के मंत्री भी रहे।
नरेंद्र सिंह तोमर को वर्ष 2008 में तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष, सोमनाथ चटर्जी ने उत्कृष्ट मंत्री के रूप में सम्मानित किया था। तोमर वर्ष 2008 में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुए। उसके बाद वे , 15 जनवरी 2009 में राज्यसभा के सदस्य चुने गए। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री पद का दायित्व मिला। तोमर एक बार फिर, 16 दिसम्बर 2012 को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष बनाए गए। वर्तमान में वह केंद्रीय मंत्री के रूप में जनता को अपनी सेवाएं दे रहे है। नरेंद्र सिंह तोमर ने अपने अथक मेहनत से लगातार 18 से 20 घंटे काम करने एवं जो भी दायित्व उन्हें सौंपा जाता है उसे पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ समय सीमा पर करने के विशिष्ट गुणों के कारण वह सामाजिक एवं राजनीतिक ऊंचाइयों को छूने में कामयाब हुए हैं । ग्वालियर चंबल संभाग के एकमात्र नेता नरेंद्र सिंह तोमर हैं। जो प्रदेश ही नहीं देश में अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं । जन्मदिन के अवसर पर बधाई एवं शुभकामनाएं