राज्य

Pradesh Ki Khabrain-कार्तिकेय ने लिया दिग्विजय का आर्शीवाद

Posted by Avneesh Rai on



1
चुनाव प्रचार के आखिरी दौर में नेता अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। पूर्व सीएम कमलनाथ भी पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में ताबड़तोड़ सभाएं कर रहे हैं। इसी कड़ी में कमलनाथ ने सांची विधानसभा के गैरतगंज में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पार्टी प्रत्याशी मनोज चौधरी के पक्ष में वोट करने की अपील की साथ ही बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव प्रजातंत्र का उत्सव होता है, लेकिन यहां खरीद-फरोख्त के लिए बोली लगाई जा रही है। कमलनाथ ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनावों में प्रदेश की जनता ने कांग्रेस के पक्ष में जनाधार देकर हमारी सरकार बनवाई थी। हमने चुनाव में दिए वचन पत्र के आधार पर हर वर्ग का विकास भी सुनिश्चित किया।


2
उपचुनाव के लिए प्रचार प्रसार अंतिम दौर में हैं। नेता भी अपनी ताबड़तोड़ सभाएं कर जनता को लुभाने की पुरजोर कोशिश में जुटे हुए हैं। इसी के मद्देनजर सीएम शिवराज सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया सुवासरा विधानसभा में चुनावी सभा को संबोधित किया और पार्टी प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग के पक्ष में माहौल बनाया। इस मौके पर सभा को संबोधित करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि सिंधिया परिवार को लाल बत्ती और पद का मोह नहीं है सिंधिया परिवार ने हमेशा से जनता की सेवा की है और आगे भी करता रहेगा। वहीं सीएम शिवराज सिंह ने भी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर किसानों और युवाओं के साथ धोखा करने का आरोप लगाया साथ ही कहा कि जनता उनके लिए भगवान है और वो भगवान के आगे शीष झुकाएंगे।

3
विधानसभा उपचुनाव से कुछ दिन पहले ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रेस कांफ्रेस कर पूर्व सीएम कमलनाथ पर कई संगीन आरोप लगाए । उन्होने कमलनाथ पर लाखों करोड़ो रुपए के भ्रष्टाचार के आरोप लगाए उन्होने सवाल किया कि मिगलानी के यहां छापे में करोड़ों रुपए मिले थे उनका कमलनाथ से क्या संबंध है ‌। इसके अलावा भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने कमलनाथ पर कई गंभीर आरोप लगाए ।


4
कांग्रेस के स्टार प्रचारक सचिन पायलट 31 अक्टूबर को दिल्ली से राजधानी भोपाल पहुंचेंगे । भोपाल पहुंचकर हेलीकॉप्टर द्वारा सचिन पायलट आगर मंदसौर और ब्यावरा में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे । गौरतलब है कि कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में सचिन पायलट का नाम शामिल है और वह युवाओं में काफी लोकप्रिय भी हैं ।

5

मुरैना जिले में पांच विधानसभाओं में उपचुनाव हैं। यह सभी विधानसभा केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के संसदीय क्षेत्र की हैं, लेकिन नरेंद्र सिंह तोमर सिर्फ एक सीट अंबाह विधानसभा क्षेत्र में ही अपनी पूरी ताकत झौंके हुए हैं। अंबाह विधानसभा सीट को तोमर ने अपनी प्रतिष्ठा का सवाल ऐसा बनाया कि सुबह 10 बजे से रात 12 बजे तक कस्बे से लेकर गांव-गांव जाकर नुक्कड़ सभाएं कर रहे हैं। तोमर ने खुद के चुनाव में जिन गांवों के रास्ते नहीं देखे, वहां की गलियों में पैदल घूमते नजर आ रहे हैं।

6
राजधानी भोपाल के इकबाल मैदान में हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए और फ्रांस के राष्ट्रपति का कड़ा विरोध किया। मुस्लिम समाज के लोग भोपाल मध्य विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में यहां पर एकत्र हुए और फ्रांस के राष्ट्रपति का विरोध किया। साथ ही उनसे माफी मांगने की अपील की। हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों के हाथों में तख्तियां थीं और वह जोरदार नारे लगा रहे थे।

7
मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में राजनीतिक दलों ने न्यायालय और चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों को ठेंगा बताते हुए नियमों में ही सियासी गलियां खोज ली हैं। प्रत्याशी शपथ-पत्र में आधी-अधूरी और गलत जानकारी देने के बाद भी मैदान में ताल ठोक रहे हैं। इनमें छोटे राजनीतिक दलों के साथ श्आजाद्य उम्मीदवार आगे हैं। दरअसल, चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करते समय उम्मीदवार शपथ-पत्र में जानकारी तो देते हैं, लेकिन चुनाव आयोग की ओर से उसे कभी क्रॉसचौक नहीं किया जाता।

8
मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले सियासत चरम पर है। भाजपा और कांग्रेस के नेताओं की एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी के बीच अब एक ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसमें दिग्विजय सिंह ग्वालियर से सपा उम्मीदवार रोशन मिर्जा से बातचीत कर रहे हैं। इसमें दिग्विजय सिंह मिर्जा के चुनाव लडऩे का फायदा भाजपा को होने की बात कहते सुना जा सकता है। इसमें दिग्विजय रोशन को नाम वापस लेने के लिए कह रहे हैं। वायरल ऑडियो के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- जो हम पर आरोप लगाते हैं उनके आरोप प्रमाणित हो रहे हैं। ऑडियो में पैसे के ऑफर दिए जा रहे हैं, अब कौन खऱीद-फरोख्त करता है ये स्पष्ट हो गया है।

9
प्रदेश में होने जा रहे उपचुनाव के दौरान शिकायतों के मामले में कांग्रेस ने भाजपा को पीछे छोड दिया है। चुनाव आयोग और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को कांग्रेस अब तक दो सौ से ज्यादा शिकायतें कर चुकी है। वहीं, भाजपा की ओर से 140 शिकायतें की गई हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि जिला और मुख्य निर्वाचन कार्यालय को मिलाकर अब तक आठ सौ से ज्यादा शिकायतें भाजपा, कांग्रेस और अन्य प्रत्याशी कर चुके हैं।

10
कांग्रेस पार्टी द्वारा लाया गया आरोप-पत्र पूरी तरह से तथ्यहीन एवं बोगस है। आरोप-पत्र लाकर कांग्रेस पार्टी ने अपनी कुंठित मानसिकता का परिचय दिया है। कांग्रेस के जो नेता आरोप-पत्र लेकर आए हैं, वे कमलनाथ सरकार के समय अपना राजनीतिक निर्वासन काट रहे थे। आरोप पत्र जारी करने वाले पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व पीसीसी अध्यक्ष अरुण यादव एवं सज्जन सिंह वर्मा अब विपक्ष में कोई भूमिका हथियाना चाहते हैं। इससे स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस में जो राजनीति चल रही है, वह वास्तव में लंबे समय विपक्ष में रहने की तैयारी है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस पार्टी द्वारा लाए गए आरोप पत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुंए कही।

11
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पर प्रेस वार्ता को संबोधित किया, वर्मा ने प्रदेश की शिवराज सरकार पर तीखे हमले करते हुए कहा कि यहां मौजूद सभी पत्रकार अच्छे से जानते हैं कि 15 सालों में भाजपा की शिवराज सरकार ने प्रदेश में कितने घोटाले किये, चाहे व्यापमं घोटाला हो ईटेंडरिंग हो सिंहस्थ हो, रेत तो जैसे सोना उगल रही। भाजपा के कई लोग हनी ट्रैप मामले में फंस रहे थे। वर्मा के साथ अजय सिंह तथा अरुण यादव ने भी प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

12
उपचुनाव में यूं तो कई दिलचस्प तस्वीरें सामने आ रही हैं, लेकिन गुरुवार को एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसे लेकर सियासी गलियारों में खूब चर्चा हो रही है। दरअसल, यह तस्वीर है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बीच हुई मुलाकात की। दिग्विजय सिंह और कार्तिकेय सिंह चौहान की यह मुलाकात राजगढ़ के ब्यावरा में हुई। दोनों ही अपनी-अपनी पार्टियों के प्रचार के सिलसिले में विधानसभा क्षेत्रों में दौरे कर रहे हैं। चुनावी दौरे के दौरान कार्तिकेय सिंह चौहान की पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ ब्यावरा में मुलाकात हो गई। अपने सरल स्वभाव के लिए पहचाने जाने वाले कार्तिकेय सिंह चौहान ने इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से आशीर्वाद लिया।

13
भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने एक इंटरव्यू में मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार एक बार 2008 में मालेगांव में साजिश कर चुकी है। मेरे ऊपर महाराष्ट्र में ही एक ऐसा केस लगाया जो बहुत गलत था। जिसके लिए मैं विशेष रूप से एटीएस के अधिकारी पर दोष देती हूं। उन्होंने षड्यंत्र करके मुझे फंसाया। आज भी वो अधिकारी लोगों को फंसा रहे हैं।

14
रायसेन की मंडी में इन दिनों धान की इतनी ज्यादा आवक हो रही है कि मंडी के बाहर का परिसर भी फुल हो गया और धान से भरी ट्रैक्टर-ट्रालियों की सड़कों पर कतारें लग गईं। दीपावली के पहले व्यापार के लिए शुभ संकेत हैं। शहर का बाजार कृषि उत्पादन पर ही आधारित है। जब किसान के पास उपज बेचने से रुपए आते हैं तो बाजार में उठाव आता है।

15
खाद्य पदार्थ तैयार करने और बेचने वालों को फूड सेफ्टी का लाइसेंस बनवाना अनिवार्य होता है। इसमें सामान्य ठेली लगाने वालों से लेकर बड़े होटल और उद्योग तक शामिल होते हैं। खाद्य सुरक्षा अभिकरण के लाइसेंस के बिना खाद्य पदार्थों की बिक्री नहीं की जा सकती है। अभी तक यह लाइसेंस जिला अभिहीत अधिकारी के स्तर से जारी किए जाते थे। इसके लिए व्यापारियों को कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे। साथ ही फूड इंस्पेक्टर की खुशामद भी करनी पड़ती थी। लेकिन अब फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथिरिटी ऑफ इंडिया ने सालाना 12 लाख से कम टर्नओवर वालों को राहत दी है।