राज्य

प्रदेश एक्सप्रेस

Posted by Divyansh Joshi on



1
सोमवार को झाबुआ उपचुनाव के लिए वोटिंग होना है। आज शाम पांच बजे प्रचार का शोर थम जाएगा। प्रचार के अंतिम दिन भाजपा-कांग्रेस के बड़े नेता अपनी ताकत झोंकेंगे।दोनों दलों के लिए यह चुनाव जीतना बड़ी चुनौती है। भाजपा की तरफ से जहां पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार से ही डेरा डाले हुए है , वही कांग्रेस की तरफ से मंत्रियों-विधायकों ने मोर्चा संभाल रखा हालांकि असली कमान सीएम कमलनाथ ने अपने हाथों में ले रखी है।आज सीएम कमलनाथ यहां बड़ी सभा को संबोधित करेगें।


2
सोमवार को झाबुआ उपचुनाव के लिए वोटिंग होना है। आज शाम पांच बजे प्रचार का शोर थम जाएगा। प्रचार के अंतिम दिन भाजपा-कांग्रेस के बड़े नेता अपनी ताकत झोंकेंगे।दोनों दलों के लिए यह चुनाव जीतना बड़ी चुनौती है। भाजपा की तरफ से जहां पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार से ही डेरा डाले हुए है , वही कांग्रेस की तरफ से मंत्रियों-विधायकों ने मोर्चा संभाल रखा हालांकि असली कमान सीएम कमलनाथ ने अपने हाथों में ले रखी है।आज सीएम कमलनाथ यहां बड़ी सभा को संबोधित करेगें।


3
अक्टूबर खत्म होते होते मौसम में ठंडक बढ़ने का आगाज हो चुका है। दिन में हल्की गर्मी व रात में ठंड का सिलसिला शुरू हो चुका है। इसी बीच शुक्रवार को एमपी में एक बार फिर मौसम ने करवट ली है और कई जिलों में झमाझम बारिश हुई।मौसम विभाग की माने तो ऊपरी हवा का चक्रवात बना रहने के साथ ही अरब सागर से भी कुछ नमी मिल रही है। इससे प्रदेश के पूर्वी-दक्षिणी भाग में बादल छाने लगे हैं। साथ ही हल्की बौछारें पड़ने के भी आसार बढ़ गए हैं।


4
मध्यप्रदेश में महापौर पद के चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली के बजाय पार्षदों द्वारा करवाए जाने के सरकारी फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दे दी गई है। जबलपुर के नागरिक उपभोक्ता मंच नाम के संगठन ने मामले पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि नगर निगम अधिनियम में हुए हालिया संशोधन से निर्दलीय प्रत्याशियों के महापौर बनने का अधिकार छिन गया है।


5
मप्र के पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह 11 अक्टूबर से लेकर 22 अक्टूबर तक शासकीय दौरे पर विदेश प्रवास पर हैं। इस दौरान राज्य शासन की ओर से अभी तक किसी को प्रभार नहीं सौंपा है। हाालांकि विभागीय अफसरों ने बताया कि छोटी अवधि के लिए प्रभार देने की पंरपरा नहीं है। डीजीपी ऑन ड्यूटी विदेश गए हैं। राज्य शासन की ओर से उन्हें चिली भेजा गया है।