राज्य

MP News-पैर छू -छू कर कमर तोड़ रहे भाजपा प्रत्याशी

Posted by Avneesh Rai on



1
मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार थमने में चार दिन बाकी हैं। भाजपा ने बुधवार को संकल्प पत्र जारी किया। भाजपा ने इसे विकास का रोडमैप बताया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मलहरा, अनूपपुर और सांची में पूर्व सीएम उमा भारती के साथ संकल्प पत्र जारी किया। उन्होंने कहा कि अभी तो विकास का ट्रेलर दिखाया है। चुनाव बाद पूरी फिल्म दिखाएंगे। वहीं प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में सभा करने के साथ ही संकल्प पत्र जारी किया।

2
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनूपपुर में अपनी सरकार में मंत्री बिसाहूलाल सिंह का अहसान मानते हुए कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री बनाने में इनका बड़ा योगदान रहा है। इतने मेच्योर, सीनियर और पांच बार के विधायक बिसाहूलाल सिंह ने उनसे कहा कि इस सरकार को हटाना है और इस्तीफा देकर बाहर आ गए। शिवराज ने कहा कि इनके अंदर कोई स्वार्थ नहीं है, न इन्होंने कभी कुछ मांगा। शिवराज सिंह चौहान अनूपपुर विधानसभा के खूंटाटोला में मंत्री बिसाहूलाल सिंह के पक्ष में सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा- अगर आज मैं मुख्यमंत्री हूं तो इसमें बिसाहूलाल सिंह का बड़ा योगदान है। उनके इस्तीफे की वजह से ही मुख्यमंत्री बना।

3
3 नवंबर को प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है ‌। मतदान के चंद दिनों पहले पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम संबोधन जारी किया है । उन्होंने चुनाव प्रचार के अंतिम दिनों में कार्यकर्ताओं से पार्टी के लिए पूरी निष्ठा और समर्पण भाव के साथ काम करने की अपील की है ।

4
मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने भगवा दल पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा उपचुनावों के परिणामों से डर कर भाजपा उनके विधायकों के साथ सौदेबाजी कर रही है। अशोक नगर में कमलनाथ ने कहा कि उपचुनाव के आने वाले परिणामों की चिंता भाजपा को हो रही है और वह इससे डर रही है। उन्होंने कहा, ये इतने निराश हैं। ये भी जानते हैं कि जमीन क्या है, इसलिए तो ये सब कर रहे हैं। नहीं तो इनको आवश्यकता क्या है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, मुझे कई विधायकों के फोन आये हैं कि बीजेपी उनको फोन कर रही है, इतना ऑफर दे रहे हैं।

5
सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर कहा कि ये पूरे दलित समाज और महिलाओं का अपमान है। राज्यसभा चुनाव में भी यही हुआ। कांग्रेस के दो प्रत्याशी थे। एक पर बड़े भाई, दूसरे पर दलित समाज के फूलसिंह बैरिया। आज इनकी ये जुर्रत हो गई कि मुझे और सिलावट को गद्दार कह रहे हैं। कमलनाथ और दिग्विजय सबसे बड़े गद्दार हैं। कमलनाथ ने वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का केंद्र बना दिया। वे वहां भी अकेले नहीं थे। छोटा भाई (दिग्विजय) साथ थे। कमलनाथ कोई उद्योग नहीं लाए। उलटे ट्रांसफर उद्योग खोल दिया।

6
मंगलवार दोपहर दिग्विजय सिंह अरेरा हिल्स स्थित मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय पोस्टल वोट रद्द करने की मांग लेकर शिकायत करने पहुंचे थे, तब वहां मौजूद सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर आयोग के खिलाफ नारेबाजी की थी। बिना अनुमति एकत्रित होकर नारेबाजी को प्रशासन ने शासकीय आदेश का उल्लंघन मानते हुए पार्षद योगेंद्र सिंह गुड्डू चौहान, मोनू सक्सेना सहित 150 कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ धारा 188 के तहत एमपी नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है। हालांकि यह अभी साफ नहीं है, कि दिग्विजय सिंह को आरोपी बनाया जाएगा या नहीं। पुलिस का कहना है कि दिग्विजय सिंह आयोग से समय लेकर वहां पहुंचे थे, ऐसे में प्रदर्शन की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफ देखने और जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि दिग्विजय सिंह प्रदर्शन में शामिल थे या नहीं। इसके बाद ही उनके संबंध कुछ निर्णय लिया जाएगा।

7
मध्य प्रदेश की सियासत में पिछले 7 महीने में विधायकों का कांग्रेस से मोह भंग होने का सिलसिला जारी है। उपचुनाव के बीच कांग्रेस के एक और विधायक के बीजेपी में जाने के बाद पिछले 7 महीने में कांग्रेस का कुनबा कम हुआ है। अब तक 26 विधायक हाथ का साथ छोड़ चुके हैं। भाजपा ने कुछ और विधायकों के संपर्क में होने का दावा किया है। आगामी कुछ दिनों में उनके नाम भी सामने आ सकते हैं, जबकि कांग्रेस इसे लोकतंत्र की हत्या बता रही है।

8
चुनाव में मतदाताओं के पैर छूकर उन्हें मत देने के लिए मनाना न केवल मूलमंत्र है, बल्कि आसान तरीका भी है, लेकिन जनसंपर्क के दौरान बार बार मतदाताओं के पैर छूना प्रत्याशियों के लिए भारी पड़ रहा है। क्योंकि रोजाना तीन से पांच सौ मतदाताओं के पैर छू रहे हैं। लगातार झुकने की वजह से प्रत्याशियों को कमर व पीठ में दर्द की शिकायत हो रही है। दवा व बाम आदि प्रचार में भी साथ रखनी पड़ी रही है। ग्वालियर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी सुनील शर्मा तो बैक पैन के शिकार हो गए हैं। यही हालत उनके प्रतिद्वंदी प्रद्युम्न तोमर की भी है। साथ ही चंबल की अंबाह सीट पर भी प्रत्याशी मतदाताओं के पैर छू छूकर परेशान हैं। मजबूरी यह है कि यदि वे पैर नहीं छूते हैं तो मतदाता समझते हैं कि प्रत्याशी को अभी घमंड है तो चुनाव जीतने के बाद क्या होगा।


9
उपचुनाव के मतदान का समय जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है, वैसे-वैसे चुनाव आयोग भी सख्त होता जा रहा है। अधिकारियों की थोड़ी भी लापरवाही अब उन्हें भारी पड़ सकती है। दतिया के बाद जिस तरह से अशोकनगर कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक के खिलाफ कार्रवाई की गई है, वैसे ही कदम कुछ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ भी उठाए जा सकते हैं। इसमें मुरैना, ग्वालियर, अशोकनगर, अनूपपुर और सागर के अधिकारी शामिल बताए जा रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस चुनाव आयोग से लेकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में शिवराज सरकार पर लगातार सत्ता के दुरुपयोग की शिकायत कर रही है।

10
मध्य प्रदेश की हॉट सीट में से एक सांची में 10 दिन के अंदर तीसरी बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रचार करने आएंगे। यहां पर भाजपा प्रत्याशी स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी प्रत्याशी हैं। इस बार उनके साथ उमा भारती होंगी। माना जा रहा है कि सांची विधानसभा सीट पर चुनाव प्रचार के लिए शिवराज और उमा भारती एक मंच पर होंगे तो गौरी शंकर शेजवार भी आ सकते हैं।

11
प्रदेश में 28 सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव में कुल 355 प्रत्याशी अपना ााग्य आजमा रहे हैं। खास बात यह है कि इनमें महिला प्रत्याशियों की संया सिर्फ 22 है, जबकि पुरुष प्रत्याशी 333 हैं। भाजपा ने डबरा से इमरती देवी, भांडेर से रक्षा सिरोनिया और नेपानगर से सुमित्रा कास्डेकर को टिकट दिया है, जबकि कांग्रेस ने अशोक नगर से आशा दोहरे, सुरखी से पारुल साहू और बड़ा मलहरा से रामसिया भारती को मैदान में उतारा है।

12
मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव के बीच नेताओं की बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। पूर्व सीएम व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के बीजेपी प्रत्याशी व पूर्व मंत्री इमरती देवी पर बयान को लेकर सियासत थमी नहीं है। कमलनाथ ने एक चुनावी सभा में इमरती देवी पर टिप्पणी करते हुए उन्हें आइटम कहा था। इसपर अब बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का बयान सामने आया है। सिंधिया ने कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा है। साथ ही उनपर गंभीर आरोप भी लगाए हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि इमरती देवी पर बयान कि बाद कमलनाथ की प्रतिक्रिया समझ से परे है।

13
मध्य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर उपचुनाव के सियासी रण में हाटपिपलिया सीट पर बेहद रोचक मुकाबला है। इस बार हाटपिपलिया सीट पर सियासी समीकरण भी बदले हुए हैं। हाटपिपलिया सीट पर भाजपा से मनोज चौधरी और कांग्रेस से राजवीर सिंह बघेल आमने-सामने हैं। तो वहीं साल 2008 में इन दोनों प्रत्याशियों के पिता भी सियासी मैदान में ताल ठोक चुके हैं। पिता के बाद अब राजनीति की सियासी पिच पर दोनों के बेटे आमने सामने हैं। हाटपिपलिया सीट पर 2008 में राजवीर सिंह के पिता राजेंद्र सिंह बघेल को कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया था। मनोज चौधरी के पिता कांग्रेस पार्टी से टिकट ना मिलने से खासे नाराज थे। नाराजगी के ही चलते नारायण चौधरी ने बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ा था।

14
मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है, जिसमें इंदौर का सांवेर विधानसभा क्षेत्र भी शामिल है। इस सीट पर कांग्रेस ने प्रेमचंद गुड्डू और भाजपा ने तुलसीराम सिलावट को मैदान में उतारा है। यही वजह है कि यह सीट उपचुनाव में हाई-प्रोफाइल मानी जा रही है। जबकि भाजपा और कांग्रेस ने यहां अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं, ढाबली गांव के कांग्रेस कार्यकर्ता बबलू यादव पर धारा 307 के तहत की गई कार्रवाई का विरोध करते हुए कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता आज डीआईजी ऑफिस पहुंच गए और गेट पर ही धरने पर बैठ गए।

15
प्रदेश में होने जा रहे उपचुनाव की जुबानी जंग आरोप-प्रत्यारोप के बाद अब देख लेने और उठवा लेने की धमकी तक आ पहुंची है। अभी तक एक-दूसरे पर अनर्गल आरोप लगा रहे नेता गण अब खुलेआम धमका रहे हैं। प्रदेश के खंडवा जिले के मांधाता विधानसभा क्षेत्र में ऐसा नजारा देखने को मिला। मंगलवार को किल्लोद में आयोजित मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की आम सभा में मंच से भाजपा नेता मंगल यादव दिए गए भाषण से सनसनी मच गई। मुख्यमंत्री के मंच पर पहुंचने से पहले युवा नेता यादव ने अपने भाषण में मांधाता क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी उत्तम पाल सिंह, उनके पिता पूर्व विधायक राज नारायण सिंह और परिजनों को पुरनी तथा खंडवा में देख लेने और उठवा लेने की खुली धमकी दे डाली।

16
मध्यप्रदेश उपचुनाव में नेताओं की बदजुबानी लगातार सामने आ रही है। माननीय एक-दूसरे पर निजी हमले करने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। अब कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तुलना कंस, शकुनि और मारीच से कर दी है। मुरैना के जौरा में सभा करने पहुंचे कृष्णम ने कहा- त्रेता में मामा मारीच हुए। द्वापर युग में कंस मामा का नाम रहा। इसके बाद शकुनि मामा ने छल और प्रपंच से पांडवों को बर्बाद कर दिया। तीनों मामाओं का कमीनापन निचोड़ दिया जाए, तो इससे मिलकर शिवराज मामा बनता है। कृष्णम इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा- शिवराज ऐसे व्यक्ति हैं, जो 15 साल सीएम रहे, लेकिन इसके बाद भी उनकी सत्ता की भूख कम नहीं हुई।

17
देश मे मुस्लिम त्यौहारों की मुख्य आयोजक ऑल इण्डिया मुस्लिम त्योहार कमेटी के आह्वान पर इस बार ईद मिलादुन्नबी का पर्व खास ओर अनोखे अंदाज में मनाएंगे।सभी घरों और दुकानों पर चिराग रोशनी होगी और हरे परचम यानी झंडे फहराए जाएंगे।कोविड 19 को देखते हुए इस साल रिवायती जुलूस नही निकला जाएगा।

18
28 सीटों पर होने जा रहे विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा ने संकल्प पत्र जारी किया है । लेकिन इस संकल्प पत्र के मुख्य पृष्ठ से ज्योतिरादित्य सिंधिया की फोटो गायब है ‌। इसे लेकर कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज कसा है । कांग्रेस मीडिया विभाग के समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बयान जारी करते हुए कहा कि भाजपा में ज्योतिरादित्य सिंधिया की कितनी अहमियत है और उन्हें कितना महत्व दिया जाता है । उसका अंदाजा डिजिटल रथ , स्टार प्रचारकों की सूची और संकल्प पत्र में लगे उनके फोटो से पता चल रहा है । उन्हें प्रदेश स्तर के नेताओं के साथ संकल्प पत्र में जगह दी गई है ।

19
उपचुनाव-2020 में लोग अजीबो-गरीब शिकायतें कर रहे हैं। इन शिकायतों के कारण अधिकारियों की भी सिरदर्दी बढ़ गई है। हाल ही में आई एक शिकायत में शिकायतकर्ता ने कहा है कि ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में कुछ गली मोहल्लों में भाजपा का प्रचार नहीं हो रहा है। उसने अपनी शिकायत में भाजपा का प्रचार कराने की मांग की है। कुछ शिकायतों में घरेलू हिंसा से लेकर बिजली-पानी की मांग भी शामिल है। वहीं अधिकारी व कर्मचारियों के नाम पर तो कभी राजनीतिक दलों को फायदा देने की शिकायतों की तो कतार लगी है। नौबत यह है कि प्रत्याशियों के नाम से सादा कागज या लेटरहेड तक पर शिकायतें की जा रही हैं।