राज्य

एम.पी.लाइव

Posted by khalid on



दिव्यांगजन के सुगम मतदान संबंधी कार्यशाला सम्पन्न मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा लोकसभा निर्वाचन में दिव्यांगजन के 75 प्रतिशत मतदान का लक्ष्य


निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार निर्वाचन खर्चे मे जोड़ा जाएगा सोशल मीडिया मे राजनैतिक प्रचार का व्यय


विदिशा संसदीय क्षेत्र में संभागायुक्त एवं आईजी ने की निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा, आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित कराने के दिए निर्देश

’’मेरा वोट मेरा अधिकार’’ के नारे के साथ - आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने पहली बार मताधिकार का प्रयोग करने वाले युवाओं से की वोट की अपील


सिवनी जिले में सेक्टर अधिकारियों का प्रथम प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न



दिव्यांगजन के सुगम मतदान संवेदनीकरण के लिये राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन राजधानी भो[पल स्थित प्रशासन अकादमी में किया गया । कार्यशाला में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ता राव ने कहा कि विगत चुनाव में 3 लाख 50 हजार दिव्यांगजन के लिये क्यूजम्प, वालंटियर एवं वाहन व्यवस्थाएँ की गयी थी। पिछले चुनाव से और अधिक बेहतर कार्य इस लोकसभा चुनाव में करके दिखाना है। दिव्यांगजन का मतदान प्रतिशत 75 प्रतिशत कराने का प्रयास किया जायेगा। चुनाव प्रक्रिया से छूटे लोगों विशेषकर दिव्यांगजन के लिये गैर सरकारी संगठनों ने भी भरपूर सहयोग किया। सबके सहयोग से विधानसभा निर्वाचन 2018 में दिव्यांगजन द्वारा 61 प्रतिशत मतदान संभव हो सका। यह मतदान प्रतिशत देश के अन्य राज्यों से काफी बेहतर है।





सोशल मीडिया के बढ़ते हुए प्रभाव को देखते हुए निर्वाचन प्रक्रिया मे सोशल मीडिया की गतिविधियों पर भी नजर रखी जाएगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अभ्यर्थी को नाम निर्देशन पत्र मे अपने सोशल मीडिया अकाउंटस की जानकारी भी देनी होगी। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि सोशल मीडिया भी इलेक्ट्रानिक मीडिया की परिभाषा अंतर्गत आता है ऐसे में राजनैतिक विज्ञापनो का बिना सक्षम एमसीएमसी समिति के पूर्व प्रमाणन के सोशल मीडिया मे प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। अभ्यर्थी एवं राजनैतिक दलो से अपेक्षा है कि निर्वाचन व्यय मे सोशल मीडिया मे प्रचार का खर्च भी आवश्यक रूप से जोड़ें। आदर्श आचरण संहिता के प्रावधान एवं अपेक्षित आचरण सोशल मीडिया गतिविधियों पर भी प्रभावी होंगे।





लोकसभा निर्वाचन-2019 के तहत विदिशा संसदीय क्षेत्र में निर्वाचन के लिए की जा रही तैयारियों की भोपाल संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने रायसेन जिले के कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्वाचन संबंधी सारी कार्यवाही शुद्धता एवं पारदर्शिता के साथ निर्धारित समय सीमा में करने के निर्देश दिए।
संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने मतदान केन्द्रों की व्यवस्था, कर्मचारियों की ड्यूटी तथा मतदान संबंधी सामग्री की उपलब्धता, प्रदायगी एवं निर्वाचन के लिए परिवहन संसाधनों, ईवीएम रखने के लिए बनाए गए स्ट्रांग रूम से लेकर मतगणना के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की विस्तार से जानकारी ली। बैठक में जेण्डर रेशो, ईपीरेशो, मतदान केन्द्रो पर रेम्प निर्माण, व्हीलचेयर, ब्रेल लिपि मतदाता पर्ची, वालेंटियर, पीडब्लूडी वोटर की संख्या, वाहन व्यवस्था, पुलिस एवं सुरक्षा व्यवस्था, सुरक्षा बलो की उपलब्धता आदि बिन्दुओं पर भी विस्तार से समीक्षा की गई। उन्होंने आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिए।


लोकसभा निवार्चन 2019 में पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करने वाले जिले के नए युवा मतदाताओं से मताधिकार की अपील कर उन्हें मताधिकार के प्रयोग एवं महत्व से अवगत कराया गया।रतलाम जिले में लोकसभा निर्वाचन के तहत स्वीप अभियान की गतिविधियों के तहत उक्त अपील की गई। जिले के रतलाम शहर, रतलाम ग्रामीण, सैलाना, जावरा एवं आलोट क्षेत्र में महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं शिक्षा विभाग के दलों ने ग्रामीणों के माध्यम से उक्त अपील करते हुए युवा मतदाता को मताधिकार के महत्व से परिचित कराया। इस दौरान युवा मतदाताओं में पहली बार मतदान करने को लेकर काफी उत्साह देखा गया।



लोकसभा निर्वाचन के मद्देनजर गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सेक्टर अधिकारियों का प्रथम प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमति रानी बाटड, अनुविभागीय अधिकारी श्री हर्ष सिंह सहित सभी संबंधित अधिकारियों एवं मास्टर्स ट्रेनर्स तथा सेक्टर ऑफिसर उपस्थित रहे । प्रशिक्षण कार्यक्रम में मास्टर्स ट्रेनर्स द्वारा प्रमुख रूप से मतदान दिवस तक तथा मतदान दिवस पर सेक्टर अधिकारियों द्वारा की जाने वाली कार्यवाही तथा उनके कर्तव्यों के बारे में पॉवर पाइन्ट प्रजेन्टेशन के माध्यम से सभी को बताया गया। साथ ही ईव्हीएम मशीन की हैण्डस ऑन ट्रेनिंग सेक्टर अधिकारियों को दी गई।