व्यक्तित्व

सरोज राकेश जैन अनुपम पार्षद, वार्ड नं. 25 नगर निगम भोपाल

Posted by Divyansh Joshi on



राकेश जैन अनुपम राजनीति एवं समाज सेवा की दुनिया मे एक ऐसा नाम है जो किसी भी परिचय का मोहताज नही हैं। 16 जून 1968 को उत्तर प्रदेश के ललितपुर में शीलचंद्र जैन के किसान पुत्र के रूप में जन्मे राकेश जैन अनुपम पिछले 30 वर्षों से राजनीति और समाज सेवा में सक्रिय है। जब उनकी उम्र मात्र 18 वर्ष की तब उन्होने छात्र राजनीति में कदम रखा वे पहली बार 1986 मे अखिल भारतीय विथार्थी परिषद के ललितपुर जिला के मंत्री बने उसी समय भोपाल आकर उमाशंकर गुप्ता के नेतृत्व में समाज सेवा के कार्य से जुड़कर राजनीति के क्षेत्र में प्रभावशाली स्थान बनाया उमाशंकर गुप्ता से राजनीति की दीक्षा लेने के बाद राकेश जैन ने पूरे जीवन भर निःस्वार्थ पार्टी की सेवा करने का संकल्प लिया। 2015 में भोपाल नगर निगम चुनाव में महिला सीट होने के करण अपनी धर्मपत्नी श्रीमती सरोज राकेश जैन पार्षद बनाया उन्होंने कांग्रेस की रत्ना पाटिल को 248 मतो से शिकस्त दी राकेश जैन वर्ष 1990 से 1993 तक जहाँगीराबाद मंडल के सक्रिय बूथ कार्यकर्ता के रुप मे अपनी पहचान बनाई। वर्ष 1993 से 1998 तक भोपाल जहाँगीराबाद मंडल एक कर्मठ कार्यकर्ता के रूप में अपनी भूमिका का निर्वाह किया। वर्ष 1999से 2001 तक बुधवारा मंडल के युवा मोर्चा जुझारू कार्यकर्ता के रूप में कार्य किया। वर्ष 2002से 2008 तक बुधवारा मंडल के उपाध्यक्ष रहे । वर्ष 2008 से 2009 तक भोपाल मध्य विधानसभा में विधायक प्रतिनिधी रहे। वर्ष 2009 से 2017 तक टीटी नगर मंडल अध्यक्ष रहे। राकेश जैन ने राजनीति के साथ साथ अपने सामाजिक दायित्व का भी निर्भन बखूबी निभाया हैं वे जैन समाज की विभिन्न संस्थाओं में पदाधिकारी भी रहे जनश्री लोककल्याण समिति के कोषाध्यक्ष एवं अनुपम जन कल्याण समिति में अध्यक्ष के रूप में अपना दायित्व बखूबी निभाया हैं। राकेश जैन अनुपम ने बतौर पार्षद पति के रूप में अपनी जिम्मेदारियों को भी पूरी ईमानदारी से निभाया हैं सबका साथ सबका विकास की मूलभावना को लेकर क्षेत्र में सडक़ बिजली पानी पार्कों के निर्माण के साथ करोड़ों की राशि से 115 विकास कार्यों को पूरा किया है। इस प्रकार सगठन में विभिन्न पदों पर रहते हुए संगठन विचारधारा एवं संगठन कार्य को निरन्तर करते हुए भारत परम वैभव पर पहुचाने में गिलहरी के समान निरन्तर सहयोग प्रदान किया है।