क्षेत्रीय

जबलपुर लाइव 23-02-21

Posted by khalid on



1.
एक मार्च से यात्री बसों के पहिए फिर थम सकते हैं। किराया बढ़ाने की मांग को लेकर अड़े बस ऑपरेटरों ने अंतरराज्यीय बस टर्मिनल में बैठक कर हड़ताल पर जाने का निर्णय ले लिया है। 25 फरवरी को आइएसबीटी में बस हड़ताल की घोषणा कर दी जाएगी। आइएसबीटी बस ऑपरेटर एसोसिएशन के सचिव वीरेंद्र साहू ने बताया कि आइएसबीटी बस ऑपरेटर एसोसिएशन के अध्यक्ष कमल किशोर तिवारी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि किराया बढ़ाने की मांग को लेकर बसों के पहिए जाम किए जाएं।

2.
बढ़ती महंगाई और बरोजगारी के मांग को लेकर युवक कांग्रस द्वारा कल सिविक सेंटर में एक जंगी सभा का आयोजन किया गया है। इस कार्यक्रम में युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवासन और प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम की जानकारी देते हुये नगर युवक कांग्रेस अध्यक्ष जितिन राज ने बताया कि सभा के बाद युवक कांग्रेस के कार्यकता किसान आंदोलन के समर्थन में कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने जाएंगे।

3.
आरटीओ के अमले द्वारा शहर में ओवर लोड वाहनों की जाँच के दौरान अब यातायात पुलिस भी ओरर लोङ्क्षडंग रोकने के लिये मैदान में उतर आई है। शहर के विभिन्न हिस्सों में आज यातायात पुलिस ने ओवर लोड और बिना परमिट के सड़कों पर धमाचैकड़ी मचा रहे वाहनों की जांच की। इस दोरान कई ओवरलोड वाहनों का चालान किया और कुछ वाहनों को जब्त कर थाने भी भेजा गया।

4.
देश मे पिछले साल से कोरोना संक्रमण के चलते सभी प्रकार के व्यापार को नुकसान पहुँचा है। महामारी के इस दौर में सबसे ज्यादा नुकसान छोटे व्यवसायियों को पड़ा है । कैब चलाकर अपना जीवन यापन करने वाले वाहन चालकों में इसका ज़्यादा असर देखने को मिला हैं। जबलपुर के सिविक सेंटर में पिछले 4 दिनों से कैब टेक्सी आपरेटर एसोसिएशन द्वारा धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों के कहना है कि कोरोना के पहले ओला कंपनी जो मिनिमम बिजनस ग्रांट का प्लान देती थी उस प्लान को अब बंद कर दिया गया हैं जिसकी वजह से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है कंपनी जब तक ये प्लान दोबारा शुरू नहीं करती तब तक वो अनिश्चित काल के लिए धरना देते रहेंगे।

5.
मदनमहल अंडरब्रिज मार्ग एक बार फिर आम जनता के लिए खोल दिया गया है। ब्रिज के दोनों ओर के बाधक हटाए दिये गये और अब यहां से वाहन निकल रहेे हैं। खासतौर से मदनमहल अंडरब्रिज के दोनों ओर रहने वाले लोगों ने राहत की सांस ली जो 83 दिन से परेशान थे। उन्हें इस पार से उस पार तक जाने के लिए कई किलोमीटर घूमकर जाना पड़ रहा था। इतना ही नहीं शास्त्रीब्रिज और गुलौआ ओवरब्रिज पर भी यातायात का दबाव कम हुआ। शहर के बीचों बीच स्थित अति व्यस्ततम मदन महल अंडरब्रिज मार्ग एक दिसंबर से रेलवे द्वारा किए जा रहे कार्यों के कारण बंद था।

6.
छात्रों से तय फीस से अधिक लेना शिक्षण संस्थानों को महंगा पड़ेगा। उन्हें ब्याज के साथ ज्यादा ली गई राशि का भुगतान करना पड़ सकता है। एडमिशन एंड फीस रेग्युलेटरी कमेटी ने जबलपुर के सुख सागर मेडिकल कॉलेज को छात्रों को फीस लौटाने के निर्देश दिए हैं। इसमें 120 छात्र शामिल हैं। गौरतलब है कि सुख सागर मेडीकल कालेज पहले ही अनेक तरह के विवादों में घिरा हुआ है। हालंाकि कोरोना के पीक के दौरान इस कालेज को आइसोलेशन सेंटर बना दिया गया था। इस कालेज का संचालन शहर के एक रसूखदार बिल्डर के द्वारा किया जाता है। बिल्डर के समधी भाजपा के पूर्व विधायक हैं।

7.
बेलखेड़ा पुलिस का बेरहम चेहरा सामने आया है। मोबाइल चोरी के आरोप में पुलिस वालों ने 10 साल के लड़के को इतना मारा कि उसके कान के पर्दे फट गए। वह बोलता रहा कि मैं बेगुनाह हूं, फिर भी उसे नहीं छोड़ा। मोबाइल उसके दोस्त ने रखने के लिए दिया है। परिवार के लोग बचाने पहुंचे तो उन्हें भी भद्दी-भद्दी गाली दी और मारपीट कर भगा दिया। पीड़ित परिवार बेटे को लेकर आज एसपी की जनसुनवाई में गुहार लगाई।

8.
संजीवनी नगर में कल दिन दहाड़े गैस एजेंसी संचालक के बेटे के अपहरण की कोशिश की गई। 17 वर्षीय किशोर की सूझबूझ और मां के शोर मचाने के चलते पांच अपहरणकर्ता अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए। पुलिस ने इस मामले मे तत्परता के साथ के कार्रवाई करते हुये 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनने पूछताछ की जा रही है। अपहरण का असफल प्रयास करने वाले किशोर के घर उसकी सेकेंड हैंड चार पहिया वाहन खरीदने के बहाने पहुंचे थे। किशोर आरोपियों को बाहर तक छोडऩे गया। उसी दौरान आरोपियों ने उसे अगवा करने की कोशिश की, लेकिन छत पर मौजूद उसकी मां और एक होमगार्ड सैनिक के शोर मचाने पर उन्हें भागना पड़ा।
9.
शासकीय कामकाज में लापरवाही बरतने के आरोप में पाटन क्षेत्र के दो पटवारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। एसडीएम आशीष पांडेय व तहसीलदार के निर्देश पर एक पटवारी को निलंबित कर दिया गया तथा दूसरे के खिलाफ तीन दिन के वेतन कटौती की कार्रवाई की गई। जानकारी के अनुसार अधिकारियों द्वारा जारी निर्देशों का पालन न करने, बैठक में अनुपस्थित रहने तथा लापरवाही पर राजस्व निरीक्षक मंडल कटंगी में पदस्थ पटवारी दीपक राकेश को निलंबित किया गया है। वहीं पटवारी महेश तिवारी के खिलाफ तहसीलदार पाटन ने वेतन कटौती के निर्देश दिए।

10.
जबलपुर जिले के जनपद पंचायत मझौली के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतो में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ एकत्रित होकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया । ग्रामीणों का स्पष्ट कहना है ग्राम पंचायत में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है जिसकी शिकायत बार-बार की जा रही है पर जनपद पंचायत मझौली के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा आज तक न जांच हुई और ना ही कार्यवाही, इसलिए आज हम ग्रामवासियों ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजीव तिवारी के खिलाफ प्रदर्शन किया।। ग्रामीणों का कहना है की राजीव तिवारी द्वारा ही भ्रष्टाचार किया जा रहा है।